लखनऊ: उत्तर प्रदेश का आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किए गए ‘ब्रह्मोस एयरोस्पेस’ के इंजीनियर निशांत अग्रवाल को बुधवार को नागपुर से लखनऊ ले आई. यहां यूपी एटीएस उसे अदालत में पेश करके पूछताछ के मकसद से हिरासत मांगेगी. यह जानकारी एक अधिकारी ने दी है. बता दें कि मंगलवार को नागपुर की एक अदालत ने एटीएस को निशांत की तीन दिन की ट्रांजिट रिमांड दी थी.

‘नेहा और पूजा’ नाम पर फंसा पाकिस्तानी जाल में ब्रह्मोस इंजीनियर, UP ATS की ट्रांजिट रिमांड पर

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि निशांत को विमान से लखनऊ लाया गया है. यहां पर उत्तर प्रदेश की एटीएस उसे एक विशेष अदालत में पेश करेगी. जहां एटीएस पूछताछ के मकसद से विशेष अदालत से निशांत की हिरासत मांगेगी. नागपुर में ब्रह्मोस की वर्धा रोड इकाई में उत्तर प्रदेश के एटीएस और महाराष्ट्र पुलिस के एक संयुक्त अभियान में सोमवार को निशांत को गिरफ्तार किया गया था. उस पर पाकिस्तान को गोपनीय तकनीकी सूचनाएं लीक करने का आरोप है. ‘ब्रह्मोस एयरोस्पेस’ भारत के डीआरडीओ और रूस के सैन्य औद्योगिक समूह का संयुक्त उपक्रम है.

30 हजार डॉलर की जॉब… और इस तरह ISI को ब्रह्मोस मिसाइल की सूचना लीक कर गया निशांत

सरकारी गोपनीयता कानून के तहत मामला दर्ज
यूपी एटीएस ने अदालत को बताया कि निशांत दो फेसबुक अकाउंट के संपर्क में था जिन्हें संदिग्ध पाकिस्तानी खुफिया कर्मियों द्वारा ‘नेहा शर्मा’ और ‘पूजा रंजन’ के नाम से चलाया जा रहा था. निशांत पर सरकारी गोपनीयता कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है. (इनपुट एजेंसी)