लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बांदा जिलाधिकारी के कार्यालय में सोमवार शाम बम मिलने से हड़कंप मच गया. आनन-फानन में मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने बम को पानी में डालकर निष्क्रिय कर दिया. मामले में पुलिस ने घटना को किसी शरारती तत्‍व द्वारा अंजाम देने की बात कही गई है. फिलहाल पुलिस सीसीटीवी फुटेज के जरिए मामले की जांच की जा रही है. Also Read - Driving License Latest Update: अब चुटकियों में बन जाएगा ड्राइविंग लाइसेंस, बदल गए हैं नियम, जानिए

Also Read - शर्मनाक: नशे में धुत बड़े भाई ने शादीशुदा बहन के साथ किया Rape, वीडियो भी बनाया

UP: अकबरगंज और चौरीचौरा के पास मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से उतरा Also Read - UP: घर से लड़की के लापता होते ही आया था फोन- वीडियो कर देंगे वायरल, फ‍ि‍र रेलवे पटरी के पास मिली लाश

नगर पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ) राघवेंद्र सिंह ने मंगलवार को बताया कि सोमवार शाम शरारती तत्वों ने जिलाधिकारी के कार्यालय परिसर में खुले में एक देशी पटाखानुमा बम रख दिया था. फरियादी श्रवण तिवारी ने बम देखते ही कर्मचारियों को सूचित किया जिसकेबाद बम निरोधक दस्ते और पुलिस अधिकारियों ने उसे पानी में डाल कर निष्क्रिय कर दिया. उन्होंने बताया कि लाल रंग के पटाखानुमा बम में बारूद का पलीता लगा हुआ था, संभवत: इस पलीता में आग लगने से विस्फोट होता होगा.

यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में दो नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्‍कर्म

किसी शरारती तत्व ने की हरकत

सीओ ने नक्सली या खूंखार बदमाशों की करतूत को नकारते हुए कहा कि किसी शरारती तत्व ने यह हरकत की है. सीसीटीवी फुटेज के जरिए मामले की जांच की जा रही है. बता दें कि जिस समय यह देशी बम बरामद हुआ है, उस समय जिलाधिकारी दिव्य प्रकाश गिरि कई विभागीय अधिकारियों साथ अपने सभागार में बैठक कर रहे थे और कुछ देर बाद वहां राजस्व आयुक्त भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए पहुंचने वाले थे.