लखनऊ: पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव सीएम योगी आदित्यनाथ से मिल बंगला बचाने का आइडिया दे चुके हैं. वहीं, अब बसपा सुप्रीमो मायावती ने बंगला बचाने के लिए नया जुगाड़ तलाशा है. मायावती ने आज 13ए माल एवेन्यू स्थिति सरकारी बंगले के बाहर नया बोर्ड लगवा दिया है. नीले रंग के इस बोर्ड पर ‘कांशीराम जी यादगार विश्राम स्थल’ लिखा है. ये बोर्ड चर्चा का विषय बन गया है. Also Read - UP में हिंदू युवती की मुस्लिम युवक की हो रही थी शादी, पुलिस ने कानून का हवाला देते हुए रुकवाई

Also Read - बुंदेलखंड के बांदा में कर्ज के चलते की किसान ने सुसाइड, पत्‍नी ने कहा- बैंक लोन की वसूली का था दबाव

UP: राजनाथ सिंह ने सबसे पहले छोड़ा बंगला, मुलायम, अखिलेश, मायावती भी तलाश रहे आशियाना Also Read - इस डॉक्टर ने पेश की मिसाल, जरूरतमंद बेटियों को दे रहीं शिक्षा, जगा रहीं उम्मीद की अलख

मायावती का नया प्लान, इस तरह बचेगा बंगला!

बंगले के बाहर बोर्ड लगवाना मायावती का बँगला बचाने का नया प्लान माना जा रहा है. उम्मीद की जा रही है कि मायावती अपने अगले कदम के तौर पर बंगले के अंदर ही कांशीराम संग्रहालय होने की दलील दे सकती हैं. अगर मायावती की यह दलील राज्य संपत्ति विभाग द्वारा स्वीकार कर ली जाती है तो पूर्व मुख्यमंत्री का यह बंगला बच सकता है. आपको बता दें कि बसपा अध्यक्ष और पूर्व सीएम मायावती को ये बंगला उन्हें साल 1995 से आवंटित है.

यूपी के छह पूर्व मुख्‍यमंत्रियों को नोटिस, 15 दिन में खाली करने होंगे सरकारी बंगले

निजी बंगले में शिफ्ट हो सकती हैं मायावती

बताया जा रहा है कि मायावती अपने निजी बंगले में शिफ्ट हो सकती हैं. ये बंगला 9, मॉल एवेन्यू है. ये बंगला मायावती के सरकारी बंगले के ठीक सामने स्थित है. मायावती जल्द ही इसमें शिफ्ट होने का भी ऐलान कर सकती हैं. इस बंगले का रंग-रोगन किया जा रहा है.