लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने योगगुरु बाबा रामदेव के पतंजलि मेगा फूड पार्क के लिए भूमि हस्तांतरण के प्रस्ताव पर मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में मुहर लगा दी. इसके अलावा बैठक में 11 अहम प्रस्तावों पर मुहर लगाई गई है. यूपी कोर रोड नेटवर्क डेवलपमेंट योजना के तहत हमीरपुर-राठ मार्ग के निर्माण परियोजना के एस्टीमेंट को मंजूरी दी गई है, साथ ही पैरा मेडिकल ट्रेनिंग कॉलेज झांसी के निर्माण में लागत और उच्च विशिष्टियों के प्रयोग को मंजूरी मिल गई है. Also Read - UP: युवती ने 2 साल पहले जिस 'अशोक राजपूत' से की थी शादी, वह निकला अफजल खान

Also Read - Corona Spike in UP: यूपी में COVID19 के 15,353 नए केस आए इलाहाबाद HC में कल से ऑनलाइन सुनवाई

यूपी में उपचुनावों की हार के बाद भाजपा ने किया मंथन, 2019 को लेकर शुरू की तैयारी Also Read - UP Zila Panchayat Chunav 2021: बीजेपी ने कुलदीप सिंह सेंगर की पत्‍नी संगीता सेंगर का टिकट किया कैंसिल

यूपी सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में ग्रेटर नोएडा में प्रस्तावित बाबा रामदेव के पतंजलि मेगा फूड पार्क के लिए भूमि हस्तांतरण के प्रस्ताव को मंजूर किया गया. बता दें कि उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में प्रस्तावित पतंजलि फूड पार्क को राज्य से बाहर ले जाये जाने की धमकी के बाद सरकार हरकत में आई थी. मुख्यमंत्री ने इस मामले में खुद हस्तक्षेप करते हुए जल्द ही इसे कैबिनेट में पास करवाने का आश्वासन दिया था. राज्य सरकार ने भूमि हस्तांतरण और सहमति के लिए केंद्र सरकार से 30 जून तक का समय मांगा था.

6000 करोड़ की लागत से बनेगा मेगा फूड पार्क, दस हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

सरकार ने पतंजलि आयुर्वेद कंपनी को यमुना एक्सप्रेस-वे पर 425 एकड़ से अधिक जमीन फूड और हर्बल पार्क की स्थापना के लिए दी थी. पतंजलि की ओर से यमुना एक्सप्रेस-वे प्राधिकरण को फूड पार्क के लिए भूमि हस्तांतरित करने का आग्रह किया गया था. कंपनी को जमीन का आवंटन चूंकि कैबिनेट के फैसले से हुआ था, इसलिए उसके किसी हिस्से का अलग हस्तांतरण भी कैबिनेट से ही हो सकता था. आचार्य बालकृष्ण ने चेतावनी दी थी प्रदेश सरकार की उदासीनता के कारण पतंजलि इस परियोजना को अन्यत्र ले जाएगी. हालांकि अब कैबिनेट की मंजूरी के बाद 6000 करोड़ रूपये की लागत से तैयार होने वाले इस मेगा फूड पार्क के जरिए दस हजार से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा.