लखनऊ: शायर मुनव्वर राना (Munawwar Rana) की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं.  मुनव्वर राना के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कराई गई है. मशहूर शायर पर आरोप है कि उन्होंने भगवान वाल्मीकि की तुलना तालिबानियों (Taliban) से कर के दलित समाज का अपमान किया है और हिंदू आस्था को चोट पहुंचाई है. तालिबान की तुलना रामायण के रचयिता महर्षि वाल्मीकि (Maharishi Valmiki) से करने के आरोप में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Uttar Pradesh’s capital Lucknow) की हजरतगंज कोतवाली पुलिस ने मशहूर शायर मुनव्वर राना के खिलाफ शुक्रवार को एक मामला दर्ज किया है. बता दें कि कि एक चैनल पर चर्चा के दौरान मुनव्‍वर राना ने तालिबान की तुलना महर्षि वाल्मीकि से की थी.Also Read - UP News: मुख्यमंत्री योगी ने नवनियुक्त मंत्रियों को बांटे विभाग, जितिन प्रसाद बने प्राविधिक शिक्षा मंत्री; जानिए किसे क्या मिला

मुनव्वर राना ने एक चैनल में तालिबान पर चर्चा के दौरान विवादित बयान दिया था. उन्होंने तालिबान की तुलना महर्षि वाल्मीकि से की थी. इस बयान की हर तरफ आलोचना हो रही है और महर्षि बाल्मीकि के अनुयायी बेहद नाराज हैं. Also Read - Crime News: तीन तलाक के बाद भी पत्नी ने नहीं छोड़ा घर, फंसाने के लिए बाप ने करवा दी बेटी की हत्या

हजरतगंज कोतवाली के प्रभारी श्याम शुक्‍ला ने बताया कि वाल्मीकि समाज के नेता पीएल भारती की तहरीर पर राना के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने तथा अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. Also Read - UP: सरकारी स्‍कूल के 5 टीचर्स ने क्‍लास में किया डॉन्‍स, Video Viral होने पर गिरी सस्‍पेंशन की गाज

थाना प्रभारी ने बताया कि भारती ने हजरतगंज कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई है, जिसमें उन्होंने दावा किया है कि मुनव्‍वर राना ने महर्षि वाल्मीकि की तुलना तालिबान से करके देश के करोड़ों दलितों का अपमान किया है और हिंदू आस्था को चोट पहुंचाई है. भारती के अलावा आंबेडकर महासभा के महामंत्री अमरनाथ प्रजापति ने भी राना के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है.

शुक्रवार को डॉक्टर आंबेडकर महासभा ट्रस्ट के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डॉक्टर लालजी प्रसाद निर्मल ने एक बयान में कहा कि मुनव्वर राना की टिप्पणी से दलित खुद को अपमानित महसूस कर रहे हैं.

इंस्पेक्टर श्यामबाबू शुक्ला ने बताया, “पीएल भारती ने शुक्रवार को तहरीर दी थी, जिसके आधार पर एफआईआर दर्ज हुई है. इसके साथ ही अखिल भारत हिंदू महासभा के शिशिर चतुर्वेदी ने भी तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है. अमर नाथ प्रजापति ने भी मुनव्वर राना के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी है.”

सामाजिक सरोकार फाउंडेशन के उपाध्यक्ष पीएल भारती ने आरोप लगाया है कि मुनव्वर राना के बयान से धार्मिक भावना आहत हुई है. यही नहीं संप्रदाय वर्गों में व कटुता फैली है. यही नहीं दलित समाज के लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं.

पीएल भारती के अलावा डा. आंबेडकर महासभा ट्रस्ट के अध्यक्ष डाक्टर लालजी प्रसाद निर्मल ने भी हजरतगंज कोतवाली में तहरीर दी है. उनका आरोप है कि मुनव्वर राना ने भगवान वाल्मीकि की तुलना तालिबानियों से कर के दलित समाज का अपमान किया है और हिंदू आस्था को चोट पहुंचाई है. निर्मल ने बताया कि बौद्ध जगत पहले ही तलिबानियों से खफा है. क्योंकि ओबियान में भगवान बुद्ध की प्रतिमा को तलिबानियों ने डाइनामायट से उड़ा दी है. बाद में जापान ने बनावाया था.

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से मुनव्वर राना अपने बयानों को लेकर लगातार चर्चा में बने हुए हैं. हाल में ही उनके बेटे पर भी एफआईआर दर्ज की गई थी.