कासगंज: यूपी के कासगंज के फरौली पहुंचे सीएम योगी की सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आया है. किन्हीं कारणों से सीएम योगी आदित्यनाथ का हेलीकॉप्टर हेलीपैड पर लैंड नहीं कर पाया. काफी कोशिश के बाद सीएम के हेलीकॉप्टर को फरौली गांव में ही एक खेत में लैंड कराया गया. बिना बैरीकेडिंग के खेत में लैंडिंग होने से लोग सीएम के हेलीकॉप्टर की ओर दौड़ पड़े. जिस खेत में सीएम योगी का हेलीकॉप्टर उतरा वहां 10 फीट गहरा गड्ढा था. लैंडिंग खेत में होने पर अधिकारियों में हड़कंप मच गया.

बता दें कि सीएम योगी 13 मई (रविवार) को आए तूफान में घायल और मृतकों के परिजनों से मिलने आज फरौली गांव पहुंचे थे. सीएम ने तूफान में मारे गए लोगों के परिवार के प्रति गहरी संवेदनाएं प्रकट की. इस दौरान उन्होंने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख के चेक भी प्रदान किए. आपको बता दें कि रविवार को देर रात आए तूफान में तूफान में 6 लोगों की मौत हो गई थी, इसमें 14 लोग घायल भी हुए थे. आज यहां पहुंचे योगी आदित्यनाथ का हेलीकॉप्टर सोरों नुमाइश स्थल पर हेलीपैड पर उतरना था, लेकिन किसी कारण हेलीपैड पर लैंडिग नहीं की. काफी मशक्कत के बाद फरौली गांव में बिना बैरीकेडिंग के खेत हेलीकॉप्टर उतरावा दिया गया. हेलीकॉप्टर उतराता देख भीड़ दौड़ पड़ी.

पीड़ितों को चार लाख का चेक सौंपा
तूफान पीड़ितों ले मिलने पहुंचे सीएम के हेलीकॉप्टर को फरौली गांव में लैंड कराया गया. जहां से करीब आधा किलोमीटर पैदल चलकर वो थाना सहावर के फरौली गांव पहुंचें, जहां उन्होंने तूफान में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात की और उन्हें चार-चार लाख रुपए के चेक दिए.