लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गुरुवार को गहरा दुख व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि भारत की राजनीति में मूल्यों और आदर्शों को प्राथमिकता देने वाले, स्वतंत्र भारत के ढांचागत विकास के दूरदृष्टा, भारतीय राजनीति के शलाका पुरुष पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी का निधन भारत की राजनीति के महायुग का अवसान है. अपने शोक संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के लिए राष्ट्रहित सर्वोपरि था. राष्ट्र के प्रति वाजपेयी की सेवाओं के दृष्टिगत उन्हें देश का सर्वोच्च सम्मान ‘भारतरत्न’ प्रदान किया गया था. योगी ने आगे कहा कि वाजपेयी जी के राजनीतिक कद को देखते हुए उत्‍तर प्रदेश की हर नदी में उनके शरीर की राख को विसर्जित किया जाएगा.Also Read - UP Corona Curfew Update: यूपी में नाइट कर्फ्यू में मिली छूट, रात 11 बजे तक खुलेंगी दुकानें, आदेश जारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि वे लोकप्रिय और सर्वमान्य नेता थे, जिनका सभी सम्मान करते थे. भारत के लोकतांत्रिक इतिहास में अटल जैसा विराट व्यक्तित्व मिलना कठिन है; उनका 6 दशक का निष्कलंक राजनैतिक जीवन हमेशा याद किया जाएगा. अटल ने राजनीति को मूल्यों और सिद्धांतों से जोड़कर देश में सुशासन की आधारशिला रखी थी. Also Read - UP Me Khul Gaye Schools: वीडियो में देखें कैसे पहले दिन स्कूल पहुंचे प्राइमरी स्कूल के बच्चे, सीएम योगी ने किया ट्वीट

Also Read - UP News: भाजपा विधायक ने सीएम योगी को लिखा पत्र, जौनपुर का नाम बदलकर जमदग्निपुरम रख दें

योगी ने कहा कि एक ओजस्वी वक्ता और प्रखर सांसद के रूप में अटल की विशिष्ट पहचान थी. भारतीय संसद की गौरवशाली परंपराओं को समृद्ध करने के लिए अटल को सर्वश्रेष्ठ सांसद का पुरस्कार भी प्रदान किया गया था.