सहारनपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए जाने पर पलटवार करते हुए कहा कि वे लोग उन्हें घेरने के लिए आरोप लगा रहे हैं और खबरों में बने रहने के लिए ऐसे ट्वीट कर रहे हैं. योगी ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी में बुरी तरह चुनाव हार चुके हैं, तो अब यह लोग दिल्ली, इटली और इंग्लैंड में बैठकर खबरों में बने रहने के लिए ट्वीट कर रहे हैं.

 

उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आरोपों के जरिए हमें घेरने की कोशिश की जा रही है, लेकिन वे सफल नहीं होने वाले हैं. गौरतलब है कि शनिवार को कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर बड़ा हमला किया था. सोशल मीडिया पर डेढ़ दर्जन से अधिक घटनाओं का जिक्र करते हुए प्रियंका ने ट्वीट किया था कि ‘पूरे प्रदेश में अपराधी खुलेआम मनमानी करते घूम रहे हैं. एक के बाद एक आपराधिक घटनाएं हो रही हैं, मगर प्रदेश सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही. क्या उत्तर प्रदेश सरकार ने अपराधियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है?’

इसके जवाब में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश की जनता ने कांग्रेस के प्लान को फेल कर दिया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष (राहुल गांधी) चुनाव हार जाते हैं. इसलिए इस पर ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है. जैसे चुनाव में ध्यान नहीं दिया था, ऐसे अभी भी ध्यान देने की जरूरत नहीं है. प्रदेश में कानून व्यवस्था पर बोलते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि किसी चीज को सुधार करने में थोड़ा समय तो लगता है.

प्रियंका गांधी ने यूपी में बढ़ते अपराधों पर योगी सरकार पर बोला हमला, पुलिस ने दिया ये जवाब

योगी ने कहा कि जेलें सुधार गृह तो हो सकती हैं, लेकिन अपराध संचालन का केंद्र नहीं. अपराधियों से साठ-गांठ रखने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई है. पलायन के मुद्दे पर बोलते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जबसे वह सत्ता में आए हैं, यह सब बंद हो गया है. उन्होंने कहा कि राज्य में छोटे-मोटे विवाद हो सकते हैं, पर पलायन की खबरें सही नही हैं. पिछली सरकारों में कैराना कांधला में व्यापक स्तर पर पलायन हुआ था. ये दोनों कस्बे ही सबसे संवेदनशील थे, अब वहां हालात बदल गए हैं.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस में इस्तीफों की झड़ी, एक साथ 35 से ज्यादा पदाधिकारियों ने छोड़ा पद

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार में पलायन रुक गया है, घर वापसी हो रही है. इससे पहले सहारनपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून-व्यवस्था और विकास कार्यो की समीक्षा के दौरान नौकरशाही के प्रति खासे तल्ख नजर आए. उन्होंने अफसरों को सख्त हिदायत दी कि यदि नाबालिग बच्चियों और महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराध नहीं थमे तो उन पर कार्रवाई तय है.