लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार के ढाई साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को कहा कि इन ढाई वर्ष में उनकी सरकार राज्य को सुशासन, सुरक्षा और विकास देने के साथ जनता के विश्वास का प्रतीक बनी. उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में एक भी दंगा नही हुआ, दुर्दांत अपराधी या तो जेल में हैं या प्रदेश छोड़ कर भाग गए हैं .

उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा, ” प्रदेश में शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर बनाने की पहल की जा रही है. हम प्रदेश में एक नई मेडिकल यूनिवर्सिटी व दो एम्स बना रहे हैं. प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, सौभाग्य योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना आदि को लागू कर सुशासन की नींव रखी गई.’’

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, 14 साल के वनवास के बाद 19 मार्च 2017 को राज्य में भाजपा की सरकार बनी. चुनौतियां कई थीं, लेकिन हम मुश्किलों को मौकों में बदल कर यहां सुशासन लाने में कामयाब रहे. हमने ढाई साल में प्रदेश से पहचान के संकट को खत्म किया.’’

उन्होंने कहा कि जब प्रदेश में किसान आत्महत्या कर रहे थे, तब हमारी सरकार ने किसान कर्ज माफी योजना की शुरुआत की जिसके तहत 86 लाख किसानों के एक लाख रुपए तक के कर्ज माफ किए गए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्‍ता को बेहतर बनाने की पहल की जा रही है. ढाई वर्ष में बेसिक स्कूलों में 50 लाख नए बच्चे पहुंचे और सभी के लिए स्वेटर, यूनिफार्म, किताबें, खाने आदि का इंतजाम किया गया.

आदित्यनाथ ने कहा कि हमने शहरों में 24 घंटे, गांवों में 18 घंटे बिजली दी है, जबकि इससे पहले कोई सरकार यह नहीं कर पाई.

उन्होंने कहा, बीते ढाई वर्ष में राज्य में एक भी दंगा नही हुआ, दुर्दांत अपराधी या तो जेल में हैं या प्रदेश छोड़ कर भाग गए और डकैती, बलात्कार, लूट, फिरौती और बलवा के मामलों में भारी कमी आई है. प्रदेश में 41 नए थाने खोले गए हैं.

प्रदेश सरकार के 30 माह पूरे होने पर आज मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान विकास एवं सुशासन स्मारिका का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने विमोचन किया.