गोरखपुर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या न बढ़ने पाए, इसलिए हमें ‘जनता कर्फ्यू’ जैसे कार्यक्रमों के लिए आगे भी तैयार रहना पड़ेगा. मुख्यमंत्री योगी रविवार को गोरक्षनाथ मंदिर से प्रदेश के नागरिकों को सम्बोधित करते हुए जनता कर्फ्यू को सफल बनाने का आह्वान किया. Also Read - Coronavirus Cases In India: कोरोना हर दिन बन रहा विकराल, 1 दिन में 2.73 लाख से अधिक लोग संक्रमित, 1619 की मौत

इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या न बढ़ने पाए, इसलिए हमें जनता कर्फ्यू जैसे कार्यक्रमों के लिए तैयार रहना पड़ेगा. इस बीमारी में उपचार से महत्वपूर्ण पहलू बचाव का है. कोरोनावायरस से हम जितनी सावधानी बरतेंगे, वह उतनी ही महत्वपूर्ण होगी. Also Read - COVID-19: हांगकांग ने भारत से आने वाली फ्लाइट्स कल से 3 मई तक के लिए स्थगित कीं

उन्होंने कहा, “प्रदेश सरकार कोरोनावायरस से संक्रमित व्यक्तियों के जांच और उपचार की नि:शुल्क व्यवस्था कर रही है. इस समय में प्रदेश में 2000 से ज्यादा आइसोलेशन बेड हैं. आने वाले दो दिनों के अंदर यह संख्या 10 हजार से ज्यादा होगी.” Also Read - Bihar: JDU MLA व पूर्व मंत्री मेवालाल चौधरी का COVID-19 से पटना में निधन

योगी ने कहा कि ‘जनता कर्फ्यू’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश के 130 करोड़ नागरिकों की सुरक्षा एवं स्वास्थ्य की हम सबकी सामूहिक लड़ाई है. कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या प्रदेश में 27 थी. जिनमें से 11 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं. शेष सभी लोगों में तेजी से सुधार हो रहा है. कोरोना पर जागरूकता ही सबसे बड़ा बचाव है.”

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि चिकित्सकों, पैरा मेडिकल स्टाफ स्वास्थ्य क्षेत्र के विशेषज्ञ, एसडीआरएफ ,समेत हमारी टीम के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी जिस तरह से फ्रंटफुट पर आकर इस लड़ाई को लड़ रहे हैं, वह अभिनंदनीय है.

उन्होंने कहा कि मैं जनता से अपील करूंगा कि वह कोरोना वायरस से घबराए नहीं, बल्कि इसके खिलाफ लड़ें. मुख्यमंत्री योगी ने दवा व्यवसायियों और व्यापारी बन्धुओं से जमाखोरी को बिल्कुल भी बढ़ावा नहीं देने की अपील की है. उन्होंने कहा कि एमआरपी से ज्यादा किसी भी वस्तु का दाम न लें. कहीं भी ऐसी शिकायत मिलेगी, तो सरकार इसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी.

(इनपुट आईएएनएस)