Hathras Gagnrape and Murder Case: उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक दलित युवती के साथ बलात्कार के बाद उसकी बर्बर तरीके से की गई हत्या मामले में सियासत गर्म है. इस मसले पर पूरे देश में बवाल हो रहा है. इस बीच राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफा मांगा है. Also Read - UP Unlock Latest Update: उत्तर प्रदेश में नाइट कर्फ्यू से और दो घंटे की छूट, सरकार ने बताई टाइमिंग

इस मसले पर एक बयान में मायावती ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अगर महिलाओं को सुरक्षा नहीं दे सकते तो उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. उन्होंने कहा कि मैं केंद्र की मोदी सरकार से कहना चाहती हूं कि वह उन्हें उनके मूल स्थान गोरखनाथ मंदिर भेज दे. अगर उन्हें मंदिर पसंद नहीं है तो उन्होंने राम मंदिर के निर्माण का काम सौंप देना चाहिए. Also Read - Schools Reopens In UP: यूपी की योगी सरकार का आदेश-खोले जाएंगे क्लास 1 से 8 तक के स्कूल, जानिए तारीख

मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार अभी भी नहीं जाग रही है. पीड़ित परिवारों को पैसा या नौकरी देने से ये घटनाएं नहीं रूकेंगी बल्कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी होगी. उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ इस लायक नहीं है कि वह राज्य की कानून-व्यवस्था को संभाल सकें. ऐसे में केंद्र की सरकार को कदम उठाया चाहिए. भाजपा और आरएसएस को योगी से बात कर उनके शिकंजे से बाहर निकलना चाहिए. आपको उत्तर प्रदेश की जनता के हित में सोचना चाहिए.

गौरतलब है कि हाथरस की घटना को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर आज हाथरस जाकर पीड़ित परिवार से मिलने वाली हैं. इस बीच राज्य सरकार ने हाथरस में धारा 144 लगा दिया है. जिले की सीमा सील कर दी गई है.