UP COVID, Lockdown Update: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ (CM Yogi Adityanath) ने आज गुरुवार को कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU Covid-19 Update) के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की आपूर्ति में किसी भी तरह की कोई कमी नही होने दी जाएगी. एएमयू के शिक्षकों और कर्मचारियों के निधन पर दुख जताते हुए मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि परिसर में टीकाकरण अभियान तेज होगा और इससे स्थिति में सुधार होगा. उन्होंने कहा कि एएमयू अस्पताल में ऑक्सीजन आपूर्ति बुधवार को शुरू हो गई है और इसमें किसी तरह कमी नही होने दी जाएगी. Also Read - गंगा नदी में बहती मिली बच्ची, नाविक ने सीने से लगाकर मान लिया बेटी, CM योगी बोले- Thank You

योगी ने कहा कि अलीगढ़ मंडल में कोरोना की स्थिति की समीक्षा के दौरान उन्होंने पाया कि पिछले सप्ताह उससे पहले के सप्ताह की तुलना में कोविड सक्रिय संक्रमण मामलों में कमी आई. उन्होंने दावा किया कि पिछले कुछ दिनों में पूरे राज्य में संक्रमण के उपचाराधीन मामलों में कमी पाई गई है. उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए आवश्यक कदम उठाए गए हैं. Also Read - Food Processing Hub: यूपी बना फूड प्रोसेसिंग के लिए उद्योगपतियों का पसंदीदा क्षेत्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि महामारी की संभावित तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए प्रदेश सरकार ने तैयारियां आरंभ कर दी है. उन्होंने कहा कि शुरूआत में ऑक्सीजन आपूर्ति में कमी इसलिए आई क्योंकि पिछले महीने ऑक्सीजन की मांग अचानक 300 मीट्रिक टन से बढ़ कर एक हजार मीट्रिक टन प्रतिदिन हो गई. Also Read - UP Unlock Latest Update: उत्तर प्रदेश में नाइट कर्फ्यू से और दो घंटे की छूट, सरकार ने बताई टाइमिंग

आदित्य नाथ अलीगढ़ जिले के अधिकारियों और एएमयू के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. एएमयू में पिछले तीन हफ्तों में कई अवकाश प्राप्त और वर्तमान में कार्यरत शिक्षकों तथा अन्य कर्मचारियों की मौत कोरोना या उससे मिलते जुलते लक्षणों वाले बीमारियों से हो गई थी.

इससे पहले मुख्यमंत्री एएमूय के क्रिकेट मैदान पर हेलीकॉप्टर से उतरे और वहां से सीधे कोविड कंट्रोल सेंटर गए. वहां उन्होंने अलीगढ़ मंडल के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ वर्चअल बैठक की. उसके बाद वह एएमयू के मेडिकल कालेज गए वहां उन्होंने विश्वविदयालय के अधिकारियों के साथ बैठक की. प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद यह उनका एएमयू का पहला दौरा था. (भाषा)