लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोविड- 19 संक्रमण से 24 और लोगों की मौत के साथ ही गुरुवार को मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 345 हो गया, जबकि संक्रमण के मामलों की संख्या 12 हजार के पार चली गई हैं. यूपी में आज COVID19 के 480 नए केस दर्ज किए गए, जिससे कुल केस 12,088 हो गए. राज्‍य में आज 321 मरीज ठीक हो गए और इससे ठीक होने वाले मरीजों की संख्‍या 7292 तक पहुंच गई. राज्‍य में कुल सक्रिय मामले 4451 हैं और अब तक कुल मौतें 345 Also Read - चीन में फैली एक और बीमारी! अब मंडराया मानव प्लेग महामारी फैलने का खतरा

स्वास्थ्य विभाग द्वारा गुरुवार शाम जारी बुलेटिन के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में कोविड-19 संक्रमित 24 और लोगों की मौत हो गई. इनमें सबसे ज्यादा पांच मेरठ के हैं. प्रदेश में 24 लोगों की मौत होना, एक दिन में इस वायरस से मौतों का सबसे बड़ा आंकड़ा है. Also Read - Covid-19: रूस को पीछे छोड़ दुनिया में कोरोना से तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना भारत

बुलेटिन के अनुसार इसके अलावा कानपुर नगर में चार, आगरा और गाजियाबाद में तीन-तीन, मुरादाबाद, अलीगढ़, हापुड़़, बुलंदशहर, आजमगढ़, बिजनौर, बदायूं, झांसी तथा हाथरस में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है. Also Read - दिल्ली में सोमवार से खुलेंगे ऐतिहासिक स्मारक, लेना होगा ऑनलाइन टिकट

राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमण के 480 नए मामले भी सामने आए हैं. इनमें सबसे ज्यादा 48 कानपुर नगर के हैं. इसके अलावा गौतम बुद्धनगर में 41, लखनऊ में 27, बुलंदशहर में 23 और जौनपुर में 21 मामले सामने आए हैं.

प्रदेश में अब तक कोरोना संक्रमण के 12088 मामले सामने आ चुके हैं. उनमें से 7292 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं. इसके अलावा 4451 मरीजों का इलाज चल रहा हैं.

इसके पूर्व चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि बुधवार को प्रदेश में नमूनों की जांच का नया रिकार्ड बना और 15 हजार से अधिक नमूनों की जांच की गयी. उन्होंने बताया कि बुधवार को कुल 15,079 नमूनों की जांच हुई.

स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव ने बताया कि प्रदेश में ट्रूनेट और अन्य आधुनिक मशीनें मंगाकर प्रयोगशालाओं के नेटवर्क को विस्तारित किया गया, जिसकी वजह से जांच क्षमता में बहुत विस्तार हुआ और पहली बार जांच का आंकडा 15 हजार के पार गया. अब तक 4, 11, 000 से अधिक नमूने जांचे जा चुके हैं.

स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव ने बताया कि बुधवार को ही पूल टेस्टिंग के माध्यम से पांच-पांच नमूनों के 1248 पूल लगाये गये, जिनमें से 164 पॉजिटिव मिले जबकि 10-10 पूल के 84 पूल लगाए गए, जिनमें से सात पॉजिटिव पाए गए.

प्रमुख सचिव ने बताया, ”आरोग्य सेतु का लगातार उपयोग किया जा रहा है. आरोग्य सेतु से जिन लोगों से जानकारी मिल रही हैं, स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष से ऐसे 71,736 लोगों को फोन कर हालचाल लिया गया और उचित सलाह दी गई. कुल 155 लोगों ने बताया कि उन्हें कोरोना संक्रमण हो गया है और वे विभिन्न चिकित्सालयों में अपना इलाज करा रहे हैं, जबकि 3289 लोगों ने बताया कि वे पृथक-वास में हैं.

स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव ने बताया कि आशा कर्मियों ने अब तक 15,13,585 प्रवासी श्रमिकों एवं कामगारों के घर-घर जाकर उनका हालचाल लिया है और अगर किसी में लक्षण पाए गए तो उसकी सूचना दी है.

प्रसाद ने बताया कि शुक्रवार से लक्षित नमूनों की जांच का नया अभियान सप्ताहभर के लिए शुरू होने जा रहा है. उन्होंने बताया कि इसमें उन लोगों के नमूनों की जांच की जाएगी, जो कोरोना वायरस संक्रमण के लिहाज से संवेदनशील हैं और जिनका बाहर आना-जाना बहुत रहता है.