Uttar Pradesh News: उत्तर प्रदेश की राजधानी के गोमतीनगर में बुधवार शाम दो आपराधिक गुटों के बीच गोलीबारी में एक कुख्यात अपराधी की मौत हो गई. इसके साथ-साथ हमले में उसका एक साथी और एक राहगीर घायल हो गए. गोलीबारी में मारा गया अजीत सिंह (39) मऊ जिले का कुख्यात अपराधी था. उसके खिलाफ 17 मामले दर्ज थे, जिसमें से पांच मामले हत्या से जुड़े थे. अजीत ब्लॉक प्रमुख भी रहा था.Also Read - UP News: 25 लाख और क्रेटा कार के बदले छोड़ दिए अपराधी, अब नोएडा पुलिस का सख्त एक्शन- क्राइम ब्रांच अधिकारी बर्खास्त

लखनऊ के पुलिस आयुक्त डी के ठाकुर ने बताया कि अजीत सिंह अपने साथी मोहर सिंह के साथ शाम करीब साढ़े आठ बजे जीप से गोमती नगर में विभूति खंड के कठौता जा रहा था. तभी मोटरसाइकिल सवार तीन हमलावरों ने उन दोनों पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं. इसके जवाब में अजीत सिंह की तरफ से भी गोलियां चलायी गईं. Also Read - UP में एक ही परिवार के 4 लोगों की हत्‍या के केस में एक आरोपी गिरफ्तार, मृतक युवती के साथ रेप की पुष्टि

उन्होंने बताया कि गोलीबारी में अजीत सिंह और मोहर सिंह घायल हो गए तथा वहां से गुजर रहे राहगीर आकाश को भी गोली लगी. ठाकुर ने बताया कि तीनों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने अजीत को मृत घोषित कर दिया, जबकि मोहर सिंह और आकाश का इलाज चल रहा है. दोनों की हालत खतरे से बाहर बताई गई है. Also Read - Crime News: प्रेमिका की कहीं और होने वाली थी शादी, प्यार में नाकाम युवक उसके घर पहुंचा और...

उन्होंने बताया कि अजीत सिंह एक कुख्यात अपराधी था और उसके खिलाफ करीब 17 मामले दर्ज थे, जिसमें से पांच हत्या के मामले थे. उसे आपराधिक गतिविधियों के कारण 31 दिसंबर को जिला बदर घोषित किया गया था. उन्होंने बताया कि दोनो पक्षों की ओर से करीब 20 से 25 राउंड गोलियां चलाई गईं. ठाकुर ने बताया कि प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि गोली मारने वाले अजीत के पूर्व परिचित थे और किसी पुरानी रंजिश के चलते यह गोलीबारी की घटना हुई है.

उन्होंने कहा कि ऐसी जानकारी मिली है कि पूर्व में अजीत ब्लॉक प्रमुख भी रहा था. पुलिस आयुक्त के मुताबिक, पुलिस की कई टीम फरार आरोपियों की तलाश कर रही हैं और पुलिस सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है. गोमती नगर में शाम को अचानक गोलियां चलने से हड़कंप मच गया.

(इनपुट: भाषा)