नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के एक सरकारी अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही का मामला सामने आया है. मथुरा  के केडी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने इलाज के लिए आए एक बच्चे के सिर में लगी चोट में टांके लगाने के दौरान नीडल अंदर ही छोड़ दी.मामला तब सामने आया जब छह साल के लड़के के अभिभावक पट्टी बदलने लगे. इस दौरान उनकी नजर टांके वाली जगह पर नुकीली चीज पर पड़ी. बच्चे के पिता दाउ दयाल ने बताया कि मेरे बेटे के सिर में चोट लगी थी और हम उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गए थे. जब उसका घाव भरने लगा तो हमें पता चला कि डॉक्टरों ने सिर में सूई छोड़ दी है. Also Read - छत्त पर अलग-अलग पोज में ईरानी कपल ने किया kiss, तस्वीर वायरल होने पर पुलिस ने किया गिरफ्तार

दयाल ने कहा कि जब मैंने इस बारे में अस्पताल को बताया तो मुझे शिकायत दर्ज नहीं कराने के लिए कहा गया. बच्चे के पिता का कहना है कि उनपर मामले को रफा दफा करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है. यह लापरवाही का गंभीर मामला है. बच्चे के पिता ने न्याय के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुहार लगाई है. Also Read - विदेश में सर्वाधिक सेंचुरी जड़ने के मामले में भारतीय क्रिकेटर्स टॉप पर, सचिन नंबर वन तो कोहली नंबर टू

मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारी एसके त्यागी ने बताया कि मामला हमारे संज्ञान में आया है. यह लापरवाही का केस है और हम इसकी जांच करेंगे. इस बीच, अस्पताल में मीडिया से बात करने से यह कहते हुए बात करने से इनकार कर दिया कि वे मुख्यमंत्री कार्यालय के संपर्क में हैं. Also Read - सीएम योगी पर राज ठाकरे का पलटवार, बोले- महाराष्ट्र में बिना इजाजत किसी मजदूर को नहीं मिलेगी एंट्री