उत्तर प्रदेश के दो दिवसीय दौरे पर आए उप निर्वाचन आयुक्त विजय देव ने सबसे पहले राजधानी से सटे जनपद सीतापुर का दौरा कर चुनावी तैयारियों का जायजा लिया, जिसमें बूथ स्तर से लेकर जोनल स्तर तक चुनावी रणनीति पर चर्चा की।

इसके साथ ही प्रदेश के 75 जनपदों में जिलाधिकारी और एसपी के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर पूरे प्रदेश की समीक्षा की, जिसमें चुनावी माहौल को परखने और अवाम के नजरिए को पहचानने की कोशिश की गई। प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों ने चुनावी तैयारियों के साथ निर्वाचन आयोग को जिले के चुनावी माहौल से भी अवगत कराया।

योजना भवन के सभागार में पत्रकारों से मुखातिब देव ने कहा कि प्रदेश में चुनावी माहौल ने रूप ले लिया है, जिसके मद्देनजर चुनाव आयोग तैयारियों में जुट गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश की मांग के मुताबिक, इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) उप्र में पहुंच गई हंै। साथ ही आयोग ने जिलाधिकारियों को अपनी निगरानी में सभी मशीनों की जांच के निर्देश दिए हैं। यह भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में होगी वर्चस्व की लड़ाई 

उन्होंने बताया कि चुनावी मशीनरी को पारदर्शी बनाने के लिए थाने से जोनल स्तर तक के अधिकारियों को जिम्मेदारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि उप्र के चुनावी इतिहास पर नजर डालते हुए कहा कि जिस प्रकार पहले के चुनाव में गड़बड़ियां पाई गई थीं, ऐसी गड़बड़ियां अब आगामी चुनाव में न हो इसके प्रबंध किए जा रहे हैं।

इसके साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया कि आगामी विधानसभा चुनाव में किसी भी प्रकार के शराब, धनबल व बाहुबल के इस्तेमाल की निगरानी के लिए कई टीमों को गठित किया जाएगा। देव ने कहा कि इस बार के चुनाव में विकलांगजनों के लिए सभी बूथों पर विशेष व्यवस्था की जाएगी। इसके साथ ही ज्यादा से ज्यादा मॉडल बूथ बनाकर वहां के माहौल को मतदाता की सुविधाओं के अनुकूल बनाने की योजना तैयार की जा रही है।

सभी बूथों पर पानी, बिजली जैसी आम मूलभूत सुविधाओं को शामिल करने के साथ मतदाता को मतदान के प्रति जागरूक करने का कार्य भी किया जाएगा, जिसमें राज्य स्तरीय गैर सरकारी संगठन, सामाजिक संस्थानाओं का सहयोग लिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि इस बार के चुनाव में सोशल मीडिया पर आयोग की विशेष नजर रहेगी, जिससे मतदाता को किसी प्रकार से प्रलोभन न दिया जा सके। इसके साथ ही आयोग नेताओं की सभाओं को कैमरे की निगरानी में रखते हुए भड़काऊ भाषणों को कैद कर उस पर कार्रवाई की जाएगी। देव ने बताया कि जल्द ही प्रदेश की चुनावी तैयारियों को अमली जामा पहनाने के लिए जल्द ही मुख्य निर्वाचन आयुक्त प्रदेश का दौरा करेंगे।