अलीगढ़: उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एक पिता ने अपनी 20 साल की बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी. आरोप है कि पिता ने बेटी की शादी आठ फरवरी को तय की थी, लेकिन वह पिछले महीने 10 जनवरी को अपने प्रेमी के संग चली गई थी. कुछ दिन बाद वह घर लौट आई. उसके लौटने पर लोकलाज के चलते पिता ने पुलिस कार्रवाई नहीं करवाई. कविता ने भी लोगों से कहा कि वह रिश्ते के भाई के यहां पर चली गई थी. इसी बात को लेकर उसका रिश्ता भी टूट गया.

इसके कुछ दिनों बाद बेटी एक बार फिर प्रेमी के साथ चली गई. घटना होने से दो दिन पहले ही वह घर लौट कर आई थी. घर में कलह होने के चलते कविता मंगलवार को फिर घर से जाने लगी. जिससे घर में झगड़ा शुरू हो गया. मामले ने तूल पकड़ा तो पिता ने 315 बोर के तमंचे से बेटी की कनपटी में गोली मार दी. गोली लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई. इससे घर में कोहराम मच गया और पास पड़ोस के लोगों भी इकट्ठा हो गए.

जब गुस्सा ठंडा हुआ तो पिता ने तमंचा सहित गांधी पार्क थाने जाकर समर्पण कर दिया. मृतका के चाचा की ओर से आरोपी पिता के खिलाफ तहरीर दी गई है. अन्य परिजन घर पर ताला लगाकर कहीं चले गए हैं. थाना गांधी पार्क प्रभारी रविंद्र कुमार सिंह ने बताया कि महावीर नगर की गली नंबर दो में रहने वाला महेंद्र कुमार बिजली विभाग में संविदा कर्मी है. उसकी सबसे बड़ी बेटी कविता (20) आगरा रोड स्थित एक निजी कॉलेज से बीएससी कर रही थी. इसके अलावा एक बेटा और उससे छोटी दो बेटियां हैं. कविता का संपर्क विजयगढ़ निवासी किसी युवक से था.

वारदात के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.