लखनऊ: कर्नाटक चुनाव के बाद अब यूपी में होने वाले उपचुनाव पर सबकी नजर है. कैराना लोकसभा और नुरपुर विधानसभा उपचुनाव जीतने के लिए बीजेपी ने एड़ी-चोटी का जोर लगा रखा है. कैराना में समूचे विपक्ष की एकजुटता से लड़ना बीजेपी के लिए चुनौती बन गई है. कैराना में ताबड़तोड़ आज दूसरे दिन भी मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और डिप्‍टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य की जनसभा हो रही है. वहीं आरएलडी प्रत्‍याशी के समर्थन में भी सभी विपक्षी दल मतदाताओं को रिझाने में लगे हैं. Also Read - मनीष सिसोदिया का बयान, कहा-कोविड-19 पर ‘‘ओछी’’ राजनीति कर रही है भाजपा 

शिव सेना के कर्म दिवंगत बाल ठाकरे की आत्मा को भी दुःख पहुंचा रहे : योगी आदित्यनाथ Also Read - भाजपा अध्यक्ष ने कहा- लॉकडाउन में पैदल घर को निकले लोगों की मदद करें पार्टी कार्यकर्ता 

कैराना लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने यहां के दिवंगत सांसद हुकूम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को मैदान में उतारा है. वहीं समाजवादी पार्टी ने आरएलडी से गठबंधन करके तबस्‍सुम को प्रत्‍याशी बनाया है. तबस्सुम के विपक्ष में उनके देवर कंवर हसन निर्दलीय प्रत्‍याशी के रूप में चुनाव मैदान में हैं. ऐसे में बीजेपी को एक राहत यह है कि कंवर हसन गठबंधन के वोट काटेंगे और इससे बीजेपी को फायदा मिल सकता है. हालांकि तबस्‍सुम का खेमा कंवर को अपने पक्ष में समर्थन करने के लिए मनाने में लगा हुआ है.  बता दें कि कैराना चुनाव में मुस्लिम वोट सबसे महत्‍वपूर्ण है. बीजेपी का समीकरण था कि महागठबंधन के मुस्लिम वोट कंवर हसन के पक्ष में जाएंगे, लेकिन अगर विपक्षी खेमा कंवर को मनाने में कामयाब रहा तो बीजेपी के लिए यहां से जीत मुश्किल हो सकती है. Also Read - CM योगी ने दूसरे राज्‍यों से की अपील, यूपी के लोगों के खाने-रहने की व्‍यवस्‍था करें, हम खर्च देंगे

बीजेपी को जीत के लिए जाटों का साथ जरूरी
बता दें कि कैराना लोकसभा सीट से बीजेपी ने 2014 और 2017 में एकतरफा जीत हासिल की थी. ऐसे में इस सीट से बीजेपी को काफी उम्‍मीदें हैं. वेस्ट यूपी में पिछड़ों खासकर जाटों का साथ मिले बिना यह मुमकिन नहीं लगता है. बीजेपी सूत्रों का कहना है कि पार्टी के प्रति 2014 और 2017 के मुकाबले जाटों का लगाव कम हुआ है, जो कि पार्टी के लिए मुशीबत खड़ी कर सकता है.

योगी आज शामली बिजनौर में आएंगे
कैराना और नूरपुर उपचुनाव के मद्देनजर गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की शामली और बिजनौर में जनसभा हो रही है. मुख्यमंत्री की पहली सभा शामली के राष्ट्रीय किसान इंटर कॉलेज में कैराना लोकसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह के समर्थन में हो रही है, इसके बाद दूसरी सभा बिजनौर के नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी अवनी सिंह के समर्थन में नूरपुर के खालसा इंटर कॉलेज के पास मैदान में होगी. यहां सीएम का कार्यक्रम दोपहर तीन बजे पहुंचने का है. सीएम के साथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य भी हैं. बता दें कि कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर 28 मई को वोटिंग होगी और मतगणना के लिए 31 मई की तारीख तय की गई है.