लखनऊ. समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अगला लोकसभा चुनाव अपनी पत्नी की सीट कन्नौज से लड़ने के संकेत दिये. अखिलेश ने यहां संवाददाताओं से बातचीत के दौरान अगले लोकसभा चुनाव लड़ने के संबंध में एक सवाल पर कहा, नेताजी मुलायम सिंह यादव तो मैनपुरी से लड़ेंगे. हमारी पार्टी तय करेगी कि किसको कहां से लड़ना . Also Read - यूपी में 31,661 असिस्‍टेंट टीचर्स की वैकेंसी की रिक्रूटमेंट प्रोसेस एक हफ्ते में पूरी होगी

Also Read - Unlock-4: बिहार से नेपाल, यूपी और झारखंड के लिए जल्द खुलेंगी बसें, हो रही तैयारी

कन्नौज लोहिया जी का है, मेरी इच्छा होगी कि मैं भी वहीं से लड़ूं. अखिलेश की पत्नी डिम्पल यादव इस वक्त कन्नौज से सांसद हैं. पूर्व मुख्यमंत्री की यह टिप्पणी पिछले साल सितम्बर में छत्तीसगढ़ के रायपुर में दिये गये बयान के लिहाज से खासी महत्वपूर्ण मानी जा रही है. Also Read - 17 साल के लड़के को महंगी लाइफ स्‍टाइल का लगा चस्‍का, दादाजी के खाते से निकाल ल‍िए 15 लाख रुपए

पद्मावत: तलवार लेकर सड़कों पर उतरा महिलाओं का हुजूम

पद्मावत: तलवार लेकर सड़कों पर उतरा महिलाओं का हुजूम

मालूम हो कि अखिलेश ने पिछले साल 24 सितम्बर को रायपुर में संवाददाताओं से बातचीत में राजनीतिक दलों में परिवारवाद के बारे में पूछे जाने पर कहा था, अगर हमारा परिवारवाद है तो हम तय करते हैं कि अगले चुनाव में हमारी पत्नी चुनाव नहीं लड़ेंगी. भाजपा का भी परिवारवाद होगा. उसके परिवारवाद की भी बात करनी चाहिये.

डिम्पल ने वर्ष 2009 में फिरोजाबाद लोकसभा उपचुनाव में पहली बार अपनी किस्मत आजमाई थी लेकिन उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था. वर्ष 2012 में अखिलेश ने प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद कन्नौज से सांसद पद से इस्तीफा दिया था. उसके बाद हुए उपचुनाव में डिम्पल पहली बार निर्विरोध निर्वाचित हुई थीं.

साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में डिम्पल एक बार फिर इस सीट से जीती थीं. डिम्पल ने पिछले विधानसभा चुनाव में पार्टी के लिये जमकर प्रचार किया था.