लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश में रेप की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं. यूपी के आजमगढ़ जिले के बिलरियागंज थाना क्षेत्र के गांव में चौदह साल की एक लड़की को अगवा कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किए जाने का मामला पुलिस ने रविवार को दर्ज किया. मामला दो समुदायों के बीच होने की वजह से गांव में पीएसी और पुलिस बल तैनात किया गया है. उधर, प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सात साल की मासूम बच्‍ची के साथ दरिंदगी की घटना सामने आई है. मामले में पुलिस ने बच्‍ची को मेडिकल के लिए भेजा है. Also Read - कानपुर में 8 पुलिस‍कर्मियों की हत्‍याओं में फरार कुख्‍यात अपराधी विकास दुबे का घर JCB से गिराया

Also Read - मेथी की जगह 'भांग की सब्जी' का परिवार ने किया सेवन, हो गएं सब बेहोश, अस्पताल में चल रहा इलाज

बीजेपी विधायक के बेतुके बोल: भगवान राम भी आ जाएं तो नहीं रोक सकते रेप की घटनाएं Also Read - बाबा विश्वनाथ के भक्तों के लिए बड़ी सौगात, अब घर बैठे मंगा सकेंगे प्रसाद, ये हैं पूरी प्रक्रिया

आजमगढ़ में गैंगरेप के बाद दो समुदायों में तनाव

आजमगढ़ के एसपी देहात नरेंद्र प्रताप सिंह ने दर्ज प्राथमिकी के आधार पर बताया कि बिलरियागंज थाना क्षेत्र के गांव में पड़ोस के दो युवक 14 साल की एक लड़की को उसके घर से उस समय उठा ले गए, जब वह वह घर में अकेली थी. लड़की की मां किसी काम से घर से बाहर चली गई थी. कुछ देर बाद उसकी मां घर लौटी और शैंपू लेने दुकान गई, जहां उसकी बेटी का दुपट्टा पड़ा था. घर लौटने पर उसने दुपट्टे के बारे में बेटी से पूछा. पहले तो वह चुप रही, लेकिन जब मां पीटने लगी, तब लड़की ने बताया कि दो युवक उसे जबरन उठा ले जाने और दुकान का शटर लगाकर अंदर दोनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया. एसपी ने बताया कि पीड़िता के पिता की तहरीर के मुताबिक, दोनों युवकों के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर पीड़िता को चिकित्सीय जांच के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया है. उन्होंने बताया कि घटना दो समुदायों के बीच होने की वजह से सुरक्षा को देखते हुए गांव में पीएसी और पुलिस बल तैनात कर दिया गया है और आरोपियों की तलाश की जा रही है.

वाराणसी में सात साल की मासूम से दुष्‍कर्म

प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के कैंट थाना क्षेत्र के सरसौली में सात साल की एक बच्ची से दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है. पुलिस के मुताबिक, बच्ची अपने घर में सो रही थी. गांव का ही कोई युवक घर में घुसकर बच्ची को उठा ले गया और सुनसान जगह पर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया. रात के सन्नाटे में बच्ची के चीखने-चल्लाने की आवाज जब गूंजी तो परिजनों की नींद खुली. उन्होंने दुष्कर्मी को भागते हुए देखा. पकड़ने की कोशिश की तो वह अंधेरे का फायदा उठाते हुए फरार हो गया. परिजनों ने रविवार सुबह मामले की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस ने बच्ची को मेडिकल जांच के लिए महिला अस्पताल भेजा है. पुलिस का कहना है कि बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि मेडिकल जांच के आधार पर होगी. आरोपी की तलाश की जा रही है.