लखनऊ: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का नाम ‘अटल पथ’ रखने का फैसला किया है. इसके अलाव राज्य सरकार ने अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में कई योजनाओं का ऐलान किया है.

मथुरा में 24 को पहुंचेगी वाजपेयी की अस्थि कलश यात्रा, किंतु यहां नहीं होगा विसर्जन

प्रदेश के परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि अटल बिहारी वाजपेयी की कर्मभूमि उत्तर प्रदेश में कई योजनाओं का नाम वाजपेयी के नाम पर रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि इस संबंध में राज्य सरकार अधिसूचना जारी करेगी. बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे 289 किलोमीटर लंबा चार लेन का राजमार्ग होगा. यह झांसी से शुरू होकर चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, औरैया और जालौन तक जाएगा. फिर यह इटावा से होकर आगरा—लखनऊ एक्सप्रेसवे में जुड़ जाएगा. पिछले सप्ताह वाजपेयी के निधन के बाद योगी ने उनके नाम पर आगरा, लखनऊ, कानपुर और बलरामपुर में चार स्मारक बनाने का ऐलान किया था.

यूपी विधानमंडल का मानसून सत्र कल से, 27 अगस्त को सदन में पेश होगा अनुपूरक बजट

ऋषिकेश एम्स में निर्माणाधीन प्रेक्षागृह का नाम वाजपेयी के नाम पर होगा
उत्‍तराखंड के एम्स ऋषिकेश में 25 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन भव्य ऑडिटोरियम का नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखा जाएगा. एम्स के निदेशक रविकांत ने यहां बताया कि 750 सीटों की क्षमता वाला यह आडीटोरियम अगले साल मार्च तक तैयार हो जाएगा. उन्होंने बताया कि केंद्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाया जा रहा यह ऑडिटोरियम आवाज और प्रकाश की अत्याधुनिक तकनीक से परिपूर्ण होगा और शैक्षणिक, कला व अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों का केंद्र होगा.