नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा नई आबकारी नीति को जारी कर दिया गया है. इसके तहत अगर आप अपने घर में तय सीमा से अधिक शराब रखते हैं तो आपको आबकारी विभाग से लाइसेंस लेना होगा. यही नहीं इस लाइसेंस के लिए़ सालाना 12000 रुपये आपको यूपी सरकार को देना होगा. वहीं 51,000 रुपये आबकारी विभाग को सिक्योरिटी के रूप में देना होगा.Also Read - UP School Closed: उत्तर प्रदेश के कक्षा 10वीं तक के लिये स्कूल बंद, 6 से 14 जनवरी तक रहेगी छुट्टी

बता दें कि अगर कोई व्यक्ति इन नियमों का उल्लंघन करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ अधिक मात्रा में शराब रखने को लेकर कार्रवाई की जाएगी. बता दें कि लाइसेंस प्राप्त करने को लेकर एक और नियम है. इस नियम के तहत लाइसेंस केवल उन्हीं लोगों को दिया जाएघा जो पिछले 5 सालों से टैक्स भरते आ रहे हैं. Also Read - UP Excise Policy: उत्तर प्रदेश में नई आबकारी नीति जारी, जानिए कितनी सस्ती या महंगी होगी शराब

अगर आप घर में अधिक शराब रखने को लेकर आवेदन करने जा रहे हैं तो आपको टैक्स भरने की रसीद अपने साथ रखनी होगी. साथ ही अपने पैन कार्ड की कॉपी भी आपको जमा करानी होगी. Also Read - Liquor News: देश के इस राज्य में क्रिसमस के दौरान लोग गटक गए 150 करोड़ रुपये की शराब, देखें आंकड़े

आवेदनकर्ता को एक शपथ पत्र भी देना होगा जिसके तहत किसी भी अनाधिकृत या फिर 21 वर्ष कम आयु के व्यक्ति को उस स्थान पर प्रवेश वर्जित किया जाएगा जहां शराब रखा गया होगा.