लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने आज कहा कि राज्य में कुल 21 लाख 39 हजार 811 पंजीकृत बेरोजगार हैं. विधान परिषद में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस सदस्य दीपक सिंह के सवाल पर राज्य के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने बताया कि प्रदेश में 30 जून तक पंजीकृत बेरोजगारों की कुल संख्या 21 लाख 38 हजार 811 है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार निजी क्षेत्र में रोजगार के अवसरों की उपलब्धता के मद्देनजर सेवायोजन कार्यालयों द्वारा रोजगार मेलों के माध्यम से बेरोजगारों को रोजगार मुहैया करा रही है. Also Read - Happy Birthday Yogi Adityanath: गांव की मिट्टी की चमक आज भी चेहरे पर दमकती है, देखें योगी आदित्यनाथ के CM बनने का सफर

Also Read - B'day Spl: CM योगी आदित्यनाथ का 48वां जन्मदिन आज, PM मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई, जानें सीएम बनने तक की खास बातें

यूपी में पॉलिथीन बंद होने से बेरोजगारी का विकराल संकट, हजारों हाथों से छिनी रोजी-रोटी Also Read - यूपी के प्रतापगढ़ में ट्रक- स्कार्पियो के बीच भयंकर भिड़ंत, बिहार के 9 लोगों की मौत

‘हम 33 लाख युवाओं को नौकरी देंगे’

मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि सरकारी क्षेत्र में पद सीमित हैं, जबकि निजी क्षेत्र में इनकी खासी संख्या है. प्रदेश सरकार ने इस साल फरवरी में ‘इन्वेस्टर्स समिट’ आयोजित की और चार महीने के अंदर ही सूबे में 60 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं की शुरुआत भी हो गई है. हालात अनुकूल रहे तो हम 33 लाख लोगों को नौकरी देंगे.

यूपी में अखिलेश यादव की बेरोजगारी भत्ता योजना को योगी सरकार ने किया बंद

जवाब से असंतुष्ट होकर सदन से बाहर गए दीपक सिंह

प्रश्नकर्ता विधानसभा सदस्य दीपक सिंह ने पूरक प्रश्न करते हुए कहा कि प्रदेश में बेरोजगारों की संख्या करीब पांच करोड़ है, मंत्री ने उनका आंकड़ा नहीं बताया. इसके अलावा भाजपा ने अपने चुनाव घोषणापत्र में 90 दिन के अंदर लाखों लोगों को नौकरी देने का वादा किया था, वह भी पूरा नहीं हुआ. इस पर नेता सदन व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार बेसिक शिक्षा विभाग में 68 हजार शिक्षकों तथा माध्यमिक शिक्षा के 12 हजार अध्यापकों की भर्ती कर रही है. पुलिस में भी जल्द ही भर्तियां होंगी. दीपक सरकार के इस जवाब से संतुष्ट नहीं हुए और सदन से बाहर चले गए.