लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अमृतसर रेल हादसे में प्रदेश के प्रभावित व्यक्तियों व उनके परिजनों को हर सम्भव सहायता प्रदान करने के निर्देश दिये हैं. राहत आयुक्त संजय कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर अमृतसर, पंजाब में विजयादशमी के दिन हुए रेल हादसे में मृतक और घायलों व गुमशुदा व्यक्तियों एवं उनके परिजनों को सहायता पहुंचाये जाने का प्रयास किया जा रहा है. अमृतसर से प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतकों में अब तक उत्तर प्रदेश से 10 व्यक्ति चिन्हित किये गये हैं.

अमृतसर ट्रेन हादसा: 61 मौत, रेलवे को नहीं थी दशहरे के कार्यक्रम की जानकारी: बोर्ड

राहत आयुक्त ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर पंजाब सरकार के अधिकारियों से सम्पर्क किया जा रहा है, जिससे मृतकों के शव को उनके निवास स्थान तक निःशुल्क पहुंचाया जा सके. इसके साथ ही घायल व्यक्तियों का पंजाब सरकार द्वारा निःशुल्क इलाज कराया जा रहा है. उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश का अगर कोई व्यक्ति इस हादसे के बाद से लापता है तो उनके परिजन राहत आयुक्त कार्यालय से सम्पर्क कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. इसके लिए राहत आयुक्त कार्यालय -0522-2237515, आपदा प्रबंध प्राधिकरण, उप्र 0522-2306882, टी.पी. गुप्ता, परियोजना प्रबंधक-9415445038 तथा हिमांशु, अपर आयुक्त अमृतसर-09501200927 से सम्पर्क कर सकते हैं.

अमृतसर ट्रेन हादसा:’रावण दहन’ पिछले 20 वर्षों से इसी जगह होता आ रहा है: स्थानीय लोग

हादसे में यूपी के दस लोग मारे गए
राहत आयुक्त संजय कुमार ने बताया कि प्रत्येक मृतक के निकट परिजन को पंजाब सरकार द्वारा 05-05 लाख रुपये और केन्द्र सरकार द्वारा 02-02 लाख रुपये और प्रत्येक घायल व्यक्ति को पंजाब सरकार एवं केन्द्र सरकार द्वारा 50-50 हजार रुपये दिये जाने की घोषणा की गई है. उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार से प्राप्त जानकारी के अनुसार यूपी के 10 मृतकों में गिरीन्द्र, पवन कुमार, वृजभान राम, राम मिलन निषाद, प्रदीप सिंह, सार्थक कुशवाहा, दिनेश, प्रीती, अभिषेक और दीपक शामिल हैं.