अमेठी: इंडोनेशिया की युवती और अमेठी के युवक बीच दोस्ती ऐसी परवान चढ़ी कि युवती अपना देश छोड़ युवक के गांव आ गई. एक दो दिन नहीं बल्कि वह पूरे एक माह तक गांव स्थित घर में रही. लोगों को इसका पता तब चला जब वह बीमार हुई और उसे अस्पताल ले जाया गया. डॉक्टरों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी. पुलिस के मुताबिक युवती के यहां होने की जानकारी उसे नहीं थी. नियम के मुताबिक युवती को यहां आने की जानकारी पुलिस को देनी चाहिए थी.

इस तरह परवान चढ़ा रिश्ता
बताया जा रहा है कि अमेठी के कोतवाली इलाके के बेनीपुर गांव के रहने वाले संजीव श्रीवास्तव ने करीब एक साल पहले फेसबुक पर सागर दीवाना नाम से अकाउंट बनाया. फोटोग्राफी करने वाले संजीव की इस अकाउंट के जरिए एक इंडोनेशिया की महिला से पहचान हुई. शिति दह्लीना नाम की इस युवती से सागर का रिश्ता इतना बढ़ गया कि दोनों के बीच लगातार चैटिंग होने लगी. इसके बाद शिति ने भारत आकर सागर से मिलने का फैसला कर लिया. करीब एक माह पहले वह अपने देश से भारत भी आ गई. वह अमेठी स्थित युवक के गांव बेनीपुर पहुंच गई.

एक माह से गांव में रह रही है युवती
एक-दो दिन नहीं, बल्कि युवती पूरे एक माह तक युवक के गांव स्थित घर में रह रही है. इसका खुलासा तब हुआ जब वह बीमार हो गई. उसे अस्पताल ले जाया गया. विदेशी नागरिक होने की वजह से डॉक्टर्स ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने बताया कि युवती को यहां रहने की सूचना देनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया. मामले की जांच की जा रही है.

बिजनेस करती है युवती
संजीव उर्फ़ सागर ने बताया कि युवती की एक साल से दोस्ती थी. वह इंडोनेशिया की रहने वाली है. वह बिजनेस करती है. पिछले 19 अप्रैल को वह अमेठी स्थित उसके गांव पहुंच घर में रह रही थी. उसे गांव में रहना अच्छा लग रहा है.