UP Corona Update: यूपी में कोरोना को लेकर बढ़ाई गई पाबंदी, नई गाइडलाइंस जारी; जानें पूरी डिटेल्स

UP Corona Update: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार ने राज्य में कोविड के प्रसार को रोकने के लिए तत्काल प्रभाव से अतिरिक्त प्रतिबंध लगाए हैं.

Published: January 10, 2022 7:34 PM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Parinay Kumar

UP Corona Update: यूपी में कोरोना को लेकर बढ़ाई गई पाबंदी, नई गाइडलाइंस जारी; जानें पूरी डिटेल्स
Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath

UP Corona Update: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार ने राज्य में कोविड के प्रसार को रोकने के लिए तत्काल प्रभाव से अतिरिक्त प्रतिबंध लगाए हैं. सरकारी प्रवक्ता के अनुसार सभी सरकारी और निजी कार्यालय एक बार में 50 फीसदी क्षमता के साथ काम करेंगे. सरकार वर्क फ्रॉम होम मॉड्यूल को भी प्रोत्साहित कर रही है और ट्रांसमिशन के स्तर को नीचे लाने के लिए कार्यस्थल पर रोटेशन सिस्टम लागू करने का आग्रह किया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ राज्य में कोविड की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा है कि ‘जीवन और आजीविका दोनों’ को बचाने के प्रयास किए जाने चाहिए.

Also Read:

उन्होंने वर्क फ्रॉम होम कल्चर को बढ़ावा देने की आवश्यकता को रेखांकित करते हुए कहा कि काम में कोई असुविधा न हो, उन्होंने कार्यालयों में रोटेशन सिस्टम लागू करने के भी निर्देश दिए. राज्य सरकार के नए कोविड नियंत्रण दिशा-निर्देशों के अनुसार, यदि निजी क्षेत्र के कार्यालयों में कार्यरत कोई कर्मचारी कोविड पॉजिटिव निकलता है, तो उसे भी वेतन में बिना किसी कटौती के 7 दिन का अवकाश दिया जाएगा. अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि राज्य में सोमवार को कुल 8,334 नए मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए. वर्तमान में कुल सक्रिय मामलों की संख्या 33,946 है, जिसमें से 33,563 लोग होम आइसोलेशन में हैं.

सीएम योगी ने कहा कि कोविड के इस चरण में बहुत कम संख्या में लोगों को अस्पताल की जरूरत पड़ रही है. विशेषज्ञों का मानना है कि यह वेरिएंट पूर्व के वेरिएंट्स की तुलना में बहुत कम नुकसानदेह है. वैक्सीन कवर ले चुके स्वस्थ-सामान्य व्यक्ति के लिए यह बड़ा खतरा नहीं है. कोरोना प्रोटोकॉल का हर हाल में अनुपालन जरूरी है. लोगों को बताया जाना चाहिए कि घबराने की नहीं, सावधानी और सतर्कता की जरूरत है. उन्होंने निर्देश दिए कि सभी कार्यालयों, औद्योगिक इकाइयों में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना अनिवार्य रूप से हो. बिना स्क्रीनिंग किसी को प्रवेश न दिया जाए.

कोविड से बचाव के इंतजाम, शीतलहर और ओलावृष्टि की स्थिति में जिलों की व्यवस्थाओं की पड़ताल के लिए नोडल अधिकारी अपने जिलों में तीन दिवसीय दौरे पर जाएंगे. मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रवास के दौरान यह नोडल अधिकारी जिलों में कोविड ट्रेसिंग, टेस्टिंग, टीकाकरण, अस्पतालों की व्यवस्था, गौशालाओं के प्रबंधन, रैन बसेरों के इंतजाम आदि का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को दुरुस्त कराएं. मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिए कि जनपदों में इंटीग्रेटेड कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) को 24 घण्टे एक्टिव रखा जाए. पूर्व की भांति वहां नियमित बैठकें आयोजित की जाएं. आईसीसीसी में विशेषज्ञ चिकित्सकों का पैनल मौजूद रहे. लोगों को टेलीकन्सल्टेशन की सुविधा दी जाए.

(इनपुट: IANS)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें राज्य समाचार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 10, 2022 7:34 PM IST