Full Lockdown In UP:  उत्तर प्रदेश में कोरोना के बेकाबू हालात को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने बुधवार को प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को जमकर फटकार लगाई थी जिसके बाद आदित्यनाथ सरकार ने प्रदेश में लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी है. अब यूपी में दो नहीं, तीन दिन लॉकडाउन लगा रहेगा. पहले ये दो ही दिन यानि कि शनिवार और रविवार के लिए ही था, जो अब एक दिन बढ़ाकर तीन दिन कर दिया गया है. अब प्रदेश में शुक्रवार शाम 8 बजे से मंगलवार सुबह 7 बजे तक बंदी रहेगी. बता दें कि पहले जारी किए गए आदेश के मुताबिक शनिवार और रविवार लॉकडाउन लागू था.Also Read - यूपी में ऐसा भी स्कूल..लू-चिलचिलाती गर्मी, खुले आसमान के नीचे इस तरह से पढ़ते हैं नन्हे-मुन्ने बच्चे

बुधवार को कोर्ट ने ‘हाथ जोड़कर’ एक बार फिर यूपी सरकार को 14 दिन के लिए बड़े शहरों में पूर्ण लॉकडाउन लगाने का सुझाव दिया था. बता दें कि इससे पहले भी इलाहाबाद हाई कोर्ट ने प्रदेश के पांच बड़े शहरों में पूर्ण लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था, जिसे सरकार ने मानने से इनकार कर दिया था. Also Read - सपा से नाराज आजम खान पर मायावती की खास नरमी, ट्वीट कर योगी सरकार को भी जमकर सुनाई खरी-खोटी

बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है. राज्य में ऑक्सिजन की कमी, बेड की किल्लत और जरूरी दवाओं के अभाव में बीते कई दिनों से कई मरीजों की जान चली गई. इन सभी तथ्यों को ध्यान में रखते हुए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने बुधवार को प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को जमकर फटकारा. कोर्ट ने कहा कि प्रदेश में स्थिति नियंत्रण से बाहर चली गई है, डॉक्टरों की कमी है, ऑक्सिजन नहीं है, एल-1, एल-2 हॉस्पिटल नहीं हैं, कागजों पर सब कुछ अच्छा है लेकिन जमीन पर सुविधाओं की भारी किल्लत है, यह बात किसी से छिपी नहीं है. Also Read - अपने गांव की गलियों में घूमते दिखे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, सबसे पूछा-पहचाना मुझे, मिला ये जवाब

कोरोन से जुड़े मामले की सुनवाई करते हुए जस्टिस सिद्धार्थ वर्मा ने आगे कहा कि हम आपसे (योगी सरकार से) हाथ जोड़कर आपसे अपने विवेक का इस्तेमाल करने का अनुरोध करते हैं. जज ने कहा कि अगर राज्य के हालात नियंत्रण में नहीं हैं तो दो हफ्ते का लॉकडाउन लगाने में देरी न करें और अपने निति निर्माताओं को सुझाव दें. बता दें कि यह दूसरी बार है जब हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को लॉकडाउन लगाने का सुझाव दिया है.