अयोध्या: उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार अब अयोध्या में भगवान राम विश्वविद्यालय बनाने की योजना बना रही है. प्रस्तावित विश्वविद्यालय में भगवान राम से संबंधित संस्कृति, शास्त्रों, विश्वासों और धार्मिक तथ्यों पर अध्ययन और शोध किया जाएगा. Also Read - राम जन्मभूमि अयोध्या में रामायण युग से जुड़े पांच तालाबों का होगा कायाकल्प, ये है सरकार की योजना

राज्य के उच्च शिक्षा विभाग को संभालने वाले उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के मुताबिक, विश्वविद्यालय द्वारा दुनिया के समक्ष भगवान राम के जीवन और सिद्धांतों को प्रस्तुत किया जाएगा. इसमें हिंदू धर्म और संस्कृति पर अध्ययन भी शामिल होगा. इस प्रस्तावित विश्वविद्यालय का निर्माण राज्य सरकार के सहयोग से निजी क्षेत्र द्वारा किए जाने की संभावना है. Also Read - Ayodhya Ram Temple: मंदिर निर्माण में सीता एलिया के पत्थर का इस्तेमाल, जानें इसकी पौराणिक महत्व को

अयोध्या में संतों और साधुओं ने इस प्रस्ताव का स्वागत किया है. राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि विश्वविद्यालय में अध्ययन के माध्यम से युवा पीढ़ी को भगवान राम और हिंदू संस्कृति से परिचित कराया जाएगा. महंत परमहंस ने भी इस कदम का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र लिखे हैं. Also Read - Arvind Kejriwal बोले- मैं हनुमान जी का भक्‍त हूं, बुजुर्गों को अयोध्‍या में भगवान राम के फ्री दर्शन करवाएंगे

इस बीच, उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि राज्य में अलीगढ़, सहारनपुर और आजमगढ़ में तीन और विश्वविद्यालय स्थापित किए जाएंगे, जिस पर राज्य सरकार ने काम शुरू कर दिया है.

डिप्‍टी सीएम ने कहा, “इसके अलावा, राज्य में एक स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी, एक आयुष यूनिवर्सिटी और एक लॉ यूनिवर्सिटी का गठन किया जाएगा. यूपी को उच्च शिक्षा केंद्र के रूप में स्थापित करने के लिए सरकार द्वारा एक ठोस कार्य योजना की शुरुआत कर दी गई है और 16 सदस्यीय एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है.”