बदायूं: बदायूं में दलित ने दबंगों पर बर्बरता का आरोप लगाया है. फसल काटने से इनकार करने पर दबंगों ने दलित पर हमला बोल दिया. आरोप है कि पेड़ से बांधकर उसकी पिटाई की गई. जूतों से पीटा. इतना ही नहीं जूते में पेशाब भरकर उसे पिलाने का प्रयास किया गया. दलित का आरोप है कि उसकी मूंछ उखाड़ ली गई. Also Read - Viral Pic: सेल्फी ली, मुस्कुराने को कहा, और मां के सिर पर तान दी पिस्तौल, फिर...

Also Read - यूपी में जगह-जगह बम रखे होने की अफवाह, कई जिलों में धारा 144 लगाई गई, पुलिस सतर्क

मामला बदायूं जिले के हजरतपुर थाना इलाके का है. यहां के गांव आजमपुर के रहने वाले सीताराम बिसौरिया ने बताया कि 24 अप्रैल, 2018 को उसके पास गांव के कुछ लोग आए. उन्होंने उससे फसल काटने को कहा. उसने मना कर दिया क्योंकि वह अपनी फसल काट रहा था. दलित ने आईजी जोन बरेली से शिकायत करते हुए बताया कि एक दिन बाद ही अप्रैल को वह अपने खेत में काम कर रहा था. तभी वही दबंग आए और उसके साथ मारपीट शुरू कर दिया. उसे पास के ही पेड़ से बांध दिया. और जूतों से उसकी पिटाई की. जातिसूचक शब्दों का भी प्रयोग किया गया. उसे जूते में मूत्र भरकर पिलाने की कोशिश की गई. इतना ही नहीं उसकी मूंछ उखाड़ ली. घटना के बाद पुलिस ने उसकी शिकायत नहीं सुनी. वह डर के कारण अपने एक रिश्तेदार के यहां दूसरे गांव चला गया. Also Read - यूपी पुलिस को Tweet में टैग करके कहा- सिनेमाघरों को बम से उड़ा दूंगा, फिर...

योगी सरकार पर मायावती का बड़ा आरोप, दलित समाज के दिलेरों की हत्या कर रही भाजपा

आईजी के आदेश पर हुई कार्रवाई

शिकायत के बाद आईजी, बरेली ने एसएसपी को कार्रवाई के आदेश दिए. इसके बाद हजरतपुर थाना पुलिस ने आरोपी शैलेंद्र, विजय सिंह, पिंकू और विक्रम सिंह के खिलाफ एससी/एसटी सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया. एसएसपी बरेली के अनुसार, मुकदमा दर्ज लिया गया है. इससे पहले भी दलित और कुछ लोगों के बीच मारपीट की सूचना मिली थी. जांच में ये मामला झूठा पाया गया. उन्होंने बताया कि अब फिर से घटना हुई है. मामले की जांच की जा रही है.