लखनऊ: आज 22 अप्रैल को रविवार था. यूपी में अफसर छुट्टी मना रहे थे. इसी बीच सीएम योगी आदित्यनाथ के एक्शन से हड़कंप मच गया. सीएम अचानक औचक निरीक्षण के लिए निकल पड़े. वह सबसे शाहजहांपुर व लखीमपुर खीरी पहुंचे. यहां उन्होंने गेहूं और गन्‍ना खरीद की जमीनी हकीकत जानने के लिए अनाज मंडियों का औचक निरीक्षण किया. शाहजहांपुर की रौजा मंडी और गन्‍ना खरीद सेंटर पहुंचे मुख्‍यमंत्री को गेहूं खरीद और भुगतान में कई खामियां मिलीं. रौजा मंडी और गन्‍ना खरीद केंद्र पहुंचे सीएम योगी आदित्‍यनाथ को कई खामियां दिखीं. इस पर उन्होंने अफसरों से जवाब मांगा है. दोनों ही जगहों के औचक निरीक्षण से अधिकारियों में हड़कंप की स्थिति रही.Also Read - गौतम गंभीर की केजरीवाल की अयोध्‍या यात्रा पर तंज- दिल्‍ली के CM राम जन्मभूमि पर पूजा कर अपने पाप धोने का प्रयास कर रहे

इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गेहूं खरीद में माफिया का गठजोड़ खत्म किया जाएगा और वास्तविक किसान को उसका लाभ दिया जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि जब तक खेतों में किसान का गन्ना रहेगा तब तक चीनी मिलों को बंद नहीं किया जाएगा. हालांकि निरीक्षण के दौरान शिकायत करने वाले किसानों को जिला प्रशासन ने मुख्‍यमंत्री के पास तक नहीं जाने दिया. Also Read - Video: Kanpur Metro ट्रेन आज पहली बार टेस्‍ट ट्रैक पर चलती हुई आई नजर

प्रशासन ने सीएम तक नहीं पहुंचने दिए किसान
गन्‍ना और गेहूं खरीद केंद्रों की हकीकत जानने के लिए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ पहले 12:50 बजे शाहजहांपुर पहुंचे थे. पुलिस लाइन में उनका हेलीकाप्‍टर उतरा. इसके बाद वह यहां से सीधे रौजा मंडी समिति पहंचे, जहां वह सीधे गेहूं खरीद सेंटर पर गए. वहां उन्‍होंने खरीद एजेंसियों के खरीद रजिस्टर खुद चेक किए. उन्‍होंने एक किसान को बुलाकर खरीद में होने वाली परेशानी के बारे में जाना. हालांकि इस दौरान परेशान किसानों को पुलिस ने सीएम से दूर रखा ताकि खामियों को छिपाया जा सके. Also Read - UP कांग्रेस के नेता राजेश पति त्र‍िपाठी और उनके बेटे ललितेश पति त्र‍िपाठी TMC में शामिल हुए

सीएम ने कहा- गेहूं खरीद की होगी जांच
इस दौरान सीएम ने कहा कि इसकी जांच की जा रही है कि गेहूं की खरीद असल किसानों से की गई है या फिर बिचौलियों ने गेहूं बेचा है. साथ ही इसकी भी जांच की जा रही है कि पैसा किसानों के खातों में पहुंचा या बिचौलियों के खाते में. सीएम ने कड़े शब्दों में कहा कि जांच के बाद कई खरीद एजेंसियां कार्यवाही के घेरे में आ सकती हैं और प्रशासनिक अधिकारी भी फंस सकते हैं. फिलहाल सोमवार सुबह जिलाधिकारी पूरी जांच रिपोर्ट शासन को भेजेंगे. मंडी में निरीक्षण के बाद सीएम योगी सीधे सेहरामऊ दक्षिणी के लक्ष्मणपुर गन्ना खरीद केंद्र पहुंचे जहां उन्होंने खटतौली के लिए खुद तौल कांटे को चेक किया. हालांकि गन्ना खरीद केंद्र को सीएम ने क्लीन चिट दे दी. इसके बाद दो बजे सीएम योगी लखीमपुर खीरी पहुंचे. यहां नवीन मंडी में पहुंचकर किसानों की समस्‍याएं जानने की कोशिश भी की.