लखनऊ: चार साल पूरे होने पर नरेंद्र मोदी सरकार जश्न मना रही है. वहीं, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कांग्रेस द्वारा इसे ‘विश्वास घात दिवस’ के रूप में मनाया. इस दौरान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने बैलगाड़ी पर चढ़कर विधानसभा की ओर जाने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें बीच में ही रोक दिया गया. इसे लेकर कांग्रेसी नेताओं और कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प हो गई. पुलिस ने इन पर बल प्रयोग कर दिया. इसके साथ ही राजबब्बर सहित कई कांग्रेसी नेताओं को हिरासत में ले लिया गया. हालांकि बाद में इन्हें छोड़ दिया गया. राजब्बर ने इसे लेकर कहा- ‘बीजेपी सरकार की उपलब्धि ये है कि योगी जी की पुलिस लखनऊ में आंदोलन करने वालों को गिरफ्तार कर लेती है.’Also Read - कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन आज, UP के 9वें हवाई अड्डा से जुड़ी अहम बातें

नोंक-झोंक के बाद लाठीचार्ज
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राज बब्बर आज लखनऊ में पहुंचे. उनके साथ बसपा छोड़ने वाले नसीमुद्दीन सिद्दीकी भी थे. नेताओं ने बैलगाड़ी पर चढ़कर विधानसभा के सामने जाकर विरोध जताने का फैसला किया, लेकिन केसरबाग़ से पुलिस ने उन्हें रोक लिया. नोकझोंक के बाद पुलिस ने कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज कर राज बब्बर को हिरासत में ले लिया. पुलिस राज बब्बर को हाथ पकड़ कर ले गई. बाद में उन्हें छोड़ दिया गया. इसे लेकर कांग्रेस प्रवक्ता जीशान हैदर ने कहा कि केंद्र सरकार विफल हो गई है. इसलिए कांग्रेस शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रही थी, लेकिन योगी की पुलिस तानाशाही कर रही है. उन्हें विधानसभा तक नहीं पहुंचने दिया गया. Also Read - UP में प्र‍ियंका गांधी को डबल झटका, उनके सलाहकार और PCC उपाध्‍यक्ष ने दिया कांग्रेस से इस्‍तीफा

राजबब्बर ने कहा- आंदोलन करने वालों को गिरफ्तार करना बीजेपी सरकार की उपलब्धि
वहीं, इसे लेकर राज बब्बज ने कहा कि ‘बीजेपी सरकार की उपलब्धि ये है कि योगी जी की पुलिस लखनऊ में आंदोलन करने वालों को गिरफ्तार कर लेती है. लेकिन योगीजी की पुलिस उन्हें गिरफ़्तार नहीं कर पाती जिन्होंने अपराध में यूपी को सरकारी आंकडों में अव्वल स्थान दे रखा है.’ Also Read - NRI के अकाउंट से बड़ी रकम उड़ाने की कोशिश, HDFC के तीन बैंककर्मियों समेत 12 लोग अरेस्‍ट