लखनऊ: दलित के घर खाना खाने को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला है. मायावती ने कहा कि बीजेपी दलितों को लेकर क्या सोचती है, यह किसी से छिपा नहीं है. बीजेपी के नेता जब कभी दलितों के घर खाना खाते हैं तो खाना भी बाहर से आता है और बर्तन भी बाहर से ही मंगाए जाते हैं. इस दौरान बीजेपी के नेता दलितों के साए से भी खुद को दूर रखते हैं. मायावती ने कहा कि जो काम पहले कांग्रेस कर रही थी, अब वही काम बीजेपी कर रही है. उन्होंने कहा कि वैसे तो उन्हें दलितों और पिछड़ी जातियों की परवाह नहीं रहती है, लेकिन चुनाव आते ही परवाह करने लगते हैं. बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियों की आदत एक जैसी है. जनता सच जान चुकी है. मायावती ने सीएम योगी के प्रतापगढ़ के दौरे के बाद लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस की.

सीएम योगी ने गांव में लगायी रात्रि चौपाल, दलित के घर किया भोजन

जनता के साथ सीधी बातचीत की
बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ सोमवार (23 अप्रैल) को प्रतापगढ़ के मधुपुर गांव पहुंचे थे. उन्होंने यहां चौपाल लगाकर जनता से उनकी समस्याओं को जानने की कोशिश की. इस दौरान योगी आदित्य़नाथ ने ग्रामीणों से सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी भी ली. योगी ने यहां एक दलित के घर खाना भी खाया था. उन्होंने जमीन पर बैठ खाना खाया था. इससे पहले डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य इटावा पहुंचे थे. उन्होंने भी यहां एक दलित के घर खाना खाया था. इस दौरान उन्होंने कहा था कि बसपा और सपा का गठबंधन कभी कामयाब नहीं होगा. कांग्रेस और सपा का गठबंधन फेल हो चुका है, उसी तरह ये भी फेल हो जाएगा.

प्रतापगढ़ में CM योगी की रात्रि चौपाल, सड़क निर्माण में खामी पर अफसरों को लगाई डांट

राहुल गांधी खा चुके हैं कई दलितों के यहां खाना
इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी व अन्य कांग्रेसी नेता दलितों के घर जाकर खाना खाते रहे हैं. वह यूपी के कई जगहों पर दलितों से मुलाकात कर खाना खा चुके हैं, लेकिन कांग्रेस को इसका चुनावों में कुछ ख़ास फायदा नहीं मिला.