आजमगढ़: यूपी के आजमगढ़ में एक समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद बवाल हो गया. यहां विरोध कर रहे उक्त समुदाय के कुछ लोगों ने एक संगठन के साथ मिलकर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन के बाद थाने पर पथराव किया.  पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़ कर दी. आगजनी की कोशिश की गई. 15 लोगों को हिरासत में लिया गया है.Also Read - Uttar Pradesh News: बुलंदशहर में पूर्व ब्लॉक प्रमुख के काफिले पर दिनदहाड़े गोलीबारी, एक की मौत

Also Read - शादी का झांसा देकर दरोगा ने किया विधवा का बलात्कार, 2019 से बना रहा था यौन संबंध; अब पुलिस ने...

बता दें कि आजमगढ़ के सरायमीर थाना इलाके में एक युवक ने एक समुदाय विशेष के प्रवर्तक के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी कर दी. इसके विरोध में आज एक संगठन के साथ कुछ लोग पुलिस से इस पर कार्रवाई करने की मांग के लिये पहुंचे. इनका कहना था कि आरोपी के खिलाफ रासुका लगाया जाए. लोगों ने नारेबाजी के बीच पथराव शुरू कर दिया. पथराव थाने पर किया गया. थाने में घुसकर तोड़फोड़ की गई. कई गाड़ियों को छतिग्रस्त कर दिया. Also Read - UP Police Exam Answer Key: पुलिस बोर्ड जल्द ही जारी करेगी SI परीक्षा की आंसर की, ऐसे करें चेक

पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले

बवाल के बीच मौके पर पहुंची पुलिस फोर्स ने स्थिति को संभाला. पुलिस को यहां आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े. डीएम शिवाकांत द्विवेदी व एसएसपी अजय साहनी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बवाल करने वाले एक दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है. इनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है. इलाके में पीएसी तैनात कर दी गई है.

खराब छवि सुधारेगी यूपी पुलिस, हर जिले में गठित होगा सोशल मीडिया सेल, अफसर रहेंगे सक्रिय

सोशल मीडिया पर की गई टिप्पणी

बताया जा रहा है कि यहां के एक युवक ने एक दिन पहले सोशल मीडिया पर धर्म विशेष पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इसके बाद लोग आक्रोशित थे. कार्रवाई की मांग कर रहे थे. आज पुलिस से ये कार्रवाई की मांग को लेकर थाने पहुंचे. इसी बीच यहां बवाल हो गया.

अफवाहें रोकने की योजना बना रही पुलिस

बता दें कि यूपी में फेसबुक और व्‍हाट्सएप के जरिए अफवाहें फैलाकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश को नाकाम करने के लिए यूपी पुलिस योजना बना रही है. इस पर लगाम लगाने के लिए अब यूपी के हर जिले में मीडिया और सोशल मीडिया सेल के गठन की योजना बनाई गई है. इसके लिए प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने आदेश भी जारी कर दिया है. जिले और रेंज जोन में गठित होने वाले इन सोशल मीडिया सेल में इंस्‍पेक्‍टर रैंक का अधिकारी सेल प्रभारी होगा. साथ ही अधिकारी भी मीडिया से सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म के जरिये जुड़े रहेंगे.