झांसी: यूपी के झांसी में रेप के मामले में पुलिस से कोई मदद नहीं मिलने पर युवती ने एसएसपी ऑफिस में आत्मदाह का प्रयास किया. उसने खुद के ऊपर बोतल से मिट्टी का तेल डाल दिया. महिला का आरोप है कि पड़ोस में रहने वाले युवक ने उसके साथ रेप किया. पुलिस ने उसकी कोई मदद नहीं की. इससे परेशान होकर उसने सुसाइड का फैसला किया. महिला का कहना है कि शिकायत करने पर दरोगा ने उसे बदचलन कहकर भगा दिया. बता दें कि यूपी में बढ़ती जा रही रेप की घटनाओं के बीच आज ही लखनऊ में विधानसभा के सामने आत्मदाह का प्रयास किया है. ये महिला भी छेड़छाड़ के बाद पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने से नाराज थी.

एसएसपी ऑफिस में डाला मिट्टी का तेल
झांसी में एसएसपी ऑफिस में रेप का प्रयास करने पहुंची महिला का आरोप है कि नौकरी का झांसा देकर उसका शोषण किया गया. युवक ने नौकरी के बहाने उसका रेप किया. वह उस पर कार्रवाई के लिए काफी समय से चक्कर लगा रही है, लेकिन पुलिस ने कोई मदद नहीं की. उसे थाने से बदचलन कहकर भगा दिया गया. महिला ने कहा कि उसे कोई रास्ता नहीं सूझा, इसलिए वह मरना चाहती थी. झांसी के शिवाजी नगर की रहने वाली महिला ने आज एसएसपी ऑफिस में उसने खुद के ऊपर मिट्टी का तेल डाल लिया. उसने आग लगाने के लिए माचिस निकाल ली, लेकिन इससे पहले ही यहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने उससे माचिस छीन ली.

लखनऊ: महिला ने विधानसभा के सामने की आत्मदाह की कोशिश, छेड़छाड़ से थी परेशान

नौकरी का झांसा देकर पानीपत में किया गया रेप
पीड़िता ने यहां बताया कि वह शादीशुदा है. उसका उसके पति से झगड़ा चल रहा है. इसी दौरान का पड़ोस में रहने वाले जितेंद्र कुशवाहा नामक युवक ने उसे अपने झांसे में फंसाया और उसे नौकरी दिलवाने की बात की. वह भी युवक के कहने में फंस गई. जितेंद्र ने उससे कहा कि चलो तम्‍हारी नौकरी मुंबई में लगवा देता हूं. यह कहकर युवक महिला को पानीपत ले गया और 20 दिन तक उसे वहां बंधक बनाकर रखा. इस दौरान वह उसके साथ रेप करता रहा. जब महिला ने उसका विरोध किया तो जितेंद्र ने उसे और उसकी मासूम बच्ची को जान से मारने की धमकी दी. किसी तरह मौका पाकर महिला भागकर झांसी आई और नवाबाद थाना पहुंचकर उसने युवक के खिलाफ पुलिस को एक शिकायती पत्र दिया.

यूपी: CM आवास के बाहर युवती ने की सुसाइड की कोशिश, BJP MLA पर लगाया रेप का सनसनीखेज आरोप, बोली- न्याय चाहिए

भागकर पहुंची थाने, पुलिस ने बदचलन कहकर भगाया
इस पर थाना पुलिस ने उसे चैकी विश्वविद्यालय भेज दिया. जब पीडि़त महिला चैकी पहुंची तो वहां मौजूद दारोगा ने महिला को ही गंदी-गंदी गालियां देना शुरू कर दिया. इसके बाद उसे बदचलन कहकर भगा दिया. इसके बाद मंगलवार (24 अप्रैल) को फिर पीडि़त महिला फरियाद लेकर एसएसपी ऑफिस पहुंची और आरोपी युवक जितेंद्र कुशवाहा के खिलाफ कार्रवाई कराने की मांग की और यहां भी उसकी जब मदद नहीं हुई तो उसने जान देने की ठान ली. आत्मदाह की सूचना मिलते ही एसपी सिटी व महिला थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और रेप पीडि़ता को पकड़कर महिला थाने ले गई. मामले में एसपी सिटी देवेश कुमार पांडेय का कहना है कि महिला की शिकायत के आधार पर आरोपी युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरु कर दी.