लखनऊ: कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में मिली हार पर बीजेपी के मंत्री और विधायक अजीबोगरीब बयान दे रहे हैं. कोई इसके लिए मुख्‍यमंत्री को असहाय और कमजोर बता रहा है तो दूसरा कुछ और. ताजा बयान यूपी के मंत्री लक्ष्‍मी नारायण चौधरी का आया है. उनका कहना है कि उपचुनाव की वोटिंग ऐसे समय हुई जब हमारे वोटर बच्‍चों के साथ छुट्टियों मनाने बाहर चले गए थे. इसके चलते पार्टी को कम वोट मिले, जिसके चलते उपचुनाव में पार्टी को हार मिली.

 

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में यूपी के कैबिनेट मंत्री लक्ष्‍मी नारायण चौधरी ने कहा कि उपचुनाव और आम चुनाव में बड़ा अंतर होता है. आमचुनाव में अधिक वोटर भाग लेते हैं, जबकि उपचुनाव में लोगों का उत्‍साह वैसा नहीं रहता है. कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा का उपचुनाव ऐसे समय में हुआ जब हमारे ज्‍यादातर समर्थक और वोटर बाहर थे. वो सभी बच्‍चों के साथ छुट्टियों मनाने के लिए गए थे. ऐसे में उनकी पार्टी को वोट कम मिले, जिसके चलते बीजेपी दोनों उपचुनाव हार गई. कैबिनेट मंत्री ने यह बयान उस समय दिया जब वह शाहजहांपुर जिले में जिला योजना समिति की बैठक में हिस्‍सा लेने पहुंचे थे.

कैराना-नूरपुर उपचुनावः बीजेपी MLA ने योगी को बताया असहाय, ‘मोदी नाम पर पा गए राज, कर न सके जनता के मन पर राज’

बीजेपी विधायक ने फेसबुक पोस्‍ट से दी नसीहत
बता दें कि इससे पहले हरदोई जिले की एक विधानसभा सीट से भाजपा विधायक श्याम प्रकाश ने दिया था. उन्‍होंने फेसबुक पर बकायदा पोस्ट करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है. उन्‍होंने कविता के रूप में सरकार की लाचारी और अधिकारियों के भ्रष्‍टाचार की बात कही है. साथ ही उन्‍होंने पार्टी संगठन और प्रदेश अध्‍यक्ष की कार्यप्रणाली पर भी पोस्‍ट के जरिए सवाल उठाया है. फेसबुक पोस्‍ट में श्यामप्रकाश ने कहा है कि मुख्यमंत्री पर संगठन का दबाव है और इसके चलते वह सहजता से कार्य नहीं कर पा रहे हैं. पोस्‍ट उन्‍होंने एक कविता की 10 पंक्तियों के रूप में की है. पोस्ट करते हुए विधायक ने लिखा है कि पहले गोरखपुर, फिर फूलपुर, अब कैराना, नूरपुर में भाजपा की हार का उन्‍हें दुख है.