लखनऊ: यूपी सरकार के कैबिनेट मिनिस्टर ओम प्रकाश राजभर ने इस बार सरकार के कामकाज पर नहीं, बल्कि सीएम योगी आदित्यनाथ पर ही हमला किया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने केशव प्रसाद मौर्य की बजाय योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाकर ठीक नहीं किया. उन्होंने कहा कि भाजपा ने केशव प्रसाद मौर्य को आगे कर विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन योगी आदित्यनाथ को सीएम बना दिया. इससे पिछड़ा वर्ग में नाराजगी है. इसी कारण उप चुनावों में हार झेलनी पड़ रही है. उन्होंने हार का जिम्मेदार सीएम योगी को ठहराया.

कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर अब बोले- ‘नेताओं का बस चले तो वे देश को ही बेचकर भाग जाएं’

केशव को बनाया जाना था सीएम
बलिया में योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि बीजेपी ने प्रदेश विधानसभा चुनाव केशव प्रसाद मौर्य को आगे करके लड़ा था. पिछड़े वर्ग के लोगों ने मौर्य के मुख्यमंत्री बनने की आस में ही भाजपा का समर्थन किया था. भाजपा ने मौर्य को किनारे कर योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बना दिया. पार्टी के इस निर्णय से पिछड़े वर्ग में नाराजगी बढ़ी है, जिसका परिणाम उत्तर प्रदेश के हालिया उपचुनाव में भाजपा को भुगतना पड़ा है. उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने के कारण पिछड़े वर्ग में नाराजगी बढ़ी है और यही कारण है कि नतीजतन भाजपा को उप चुनावों में हार का मुंह देखना पड़ रहा है.

कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा- बाटी चोखा कच्चा वोट, दारू मुर्गा पक्का वोट

पीएम ने किया प्रचार, फिर भी नहीं मिली जीत
उन्होंने यह भी कहा कि केशव प्रसाद मौर्य को मुख्यमंत्री बनाना या ना बनाना बीजेपी का निजी मामला है. कैराना उपचुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी परोक्ष तौर पर चुनाव प्रचार किया, फिर भी भाजपा नहीं जीत सकी. यह पूछे जाने पर कि क्या हालिया चुनाव में पराजय के लिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही जिम्मेदार हैं, उन्होंने कहा कि सरकार ही तो जिम्मेदार होगी. भाजपा को मंथन करना चाहिये कि चुनाव में उसकी लगातार पराजय के क्या कारण हैं.