लखनऊ/मथुरा: उत्तर प्रदेश सरकार में धर्मार्थ कार्य मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने अयोध्या में राम मंदिर को लेकर मथुरा में कहा कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास निश्चित तौर पर होगा और मुख्ममंत्री योगी आदित्यनाथ ही शिलान्यास करेंगे. Also Read - Ayodhya Ram Mandir: मंदिर निर्माण का प्रथम चरण, भव्य मंदिर में चांदी के सिंहासन पर बैठेंगे रामलला, CM योगी की गोद में पहुंचे नए स्थान पर

योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने मथुरा में संवाददाताओं से कहा कि आज भारत का जनमानस अयोध्या में भगवान श्रीराम का मंदिर चाहता है. इसलिए चाहे राजनेता हों, न्यायपालिका या फिर कार्य पालिका हो, सभी को जनभावना का आदर करना चाहिए. 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले राम जन्मभूमि अयोध्या में राम का मंदिर जरूर बनेगा और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ही शिलान्यास करेंगे, इसमें कोई संदेह नहीं है. एक अन्य सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि मथुरा और अयोध्या में शराब की बिक्री जारी रहेगी, क्योंकि तीर्थ नगरी घोषित होने से पहले लाइसेंस दिए जा चुके हैं, शराब और मांस की बिक्री पर बाद में प्रतिबंध लगेगा. Also Read - बाबरी विध्वंस मामले में 24 मार्च को दर्ज होंगे आरोपियों के बयान

अयोध्या मामले के वादियों ने कहा, विहिप-शिवसेना के आयोजनों से पहले मुसलमानों में डर, सरकार दे सुरक्षा Also Read - अयोध्या: आखिकार तंबू से निकलेंगे रामलला, फाइवर के मंदिर में होंगे शिफ्ट

मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था कायम करने की मिसाल पेश की: चौधरी
बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी के अयोध्या छोड़ने वाले बयान पर उत्तर प्रदेश सरकार में धर्मार्थ कार्य मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा कि अयोध्या में हमेशा संत आते रहे हैं, कुंभ में लाखों की तादाद में संत पहुंचते हैं. किसी को डरने की जरूरत नहीं है, मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था कायम करने की मिसाल पेश की है. (इनपुट भाषा)