लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के बरेली जिले में रविवार को आए तूफान की चपेट में आकर कुल सात लोगों की मौत हो गई. बरेली जिले की बहेड़ी तहसील के गांव बंजरिया में आंधी-तूफान के चलते निर्माणाधीन मस्जिद की मीनार गिर गई. इसकी चपेट में आकर तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि सोमवार सुबह दो लोगों ने दम तोड़ दिया. मरने वालों में एक बालिका और एक मासूम बच्‍ची भी शामिल है. हादसे में मरने वालों की कुल संख्या पांच हो गई है.

जानकारी के मुताबिक, बरेली जिले की बहेड़ी तहसील के गांव बंजरिया में मस्जिद का निर्माण चल रहा है. रविवार को आंधी-तूफान के चलते निर्माणाधीन मस्जिद की एक मीनार पड़ोस के दो सगे भाईयों अली अहमद और शफी अहमद के घर पर आफत बनकर गिर गई. हादसे की चपेट में आकर शफी अहमद की विवाहित पुत्री परवीन और अलीजा पुत्री की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि परवीन का भाई हारून (26 वर्ष) और अली अहमद के 30 वर्षीय पुत्र नबी अहमद और रहीमा पुत्री वासिफ मलबे में दब गए थे.

bareilly 2

हादसे की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने जेसीबी मंगवाकर मलबा हटाया. जिसमें उक्त तीनों को मृतावस्था में निकाला गया. इसके अलावा मीनार की चपेट में आकर वहीदन पत्नी शफी अहमद, आसमा व साबिन पुत्रीगण अली अहमद, इक़रार की पत्नी फरजाना गंभीर रूप से घायल हो गए. हादसे के बाद गांव में कोहराम मच गया. घटना के बाद प्रशासनिक अफसर मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना किया. इसके अलावा आंधी-तूफान के चलते जिले में दो और लोगों की मौत हुई है.

यूपी में आंधी-तूफान ने मचाई तबाही, 38 लोगों की मौत, पचास से अधिक घायल

70 फिट बन चुकी थी मीनार
स्‍थानीय लोगों के मूताबिक, बंजरिया गांव में निर्माणाधीन मस्जिद की ढही मीनार करीब 70 फिट तक बनकर तैयार हो चुकी थी. मीनार बनाए जाने का कई दिन से काम चल रहा था. हालांकि निर्माणाधीन मीनार सेट नहीं हो सकी थी और तेज आंधी-तूफान के चलते इतना बड़ा हादसा हो गया.

UP: आंधी-तूफान में बाल-बाल बचीं हेमा मालिनी, मथुरा में काफिले के आगे गिरा पेड़