UP News In HIndi: लखनऊ की एक अदालत ने धनशोधन के एक मामले में पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति (Gayatri Prajapati) को 7 दिन के ED की हिरासत में भेज दिया है. गायत्री की हिरासत 11 फरवरी की सुबह 10 बजे से शुरू होगी. जिला न्यायाधीश (तृतीय) दिनेश कुमार शर्मा ने यह आदेश ईडी की अर्जी को मंजूर करते हुए दिया है. बुधवार को ईडी के विशेष वकील कुलदीप श्रीवास्तव ने अर्जी पर बहस की. उनका कहना था कि बतौर खनन मंत्री गायत्री ने अपनी आय से अधिक संपति अर्जित की है. Also Read - UP News: आज से 5 अप्रैल तक के लिए Lucknow में लगी धारा 144, रहेंगी ये पाबंदियां, जानिए

ईडी की शुरुआती पूछताछ में गायत्री की दो करोड़ 98 लाख रुपए से अधिक संपति का पता चला है. ईडी के अनुसार लेकिन गायत्री जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं, जबकि गायत्री के बहुत सारे फर्म हैं, जिसमें कई करोड़ रुपए निवेश किए गए हैं. इनका लड़का अनिल प्रजापति इन कम्पनियों का निदेशक है. इनकी कई संपत्तियां अमेठी, लोनावला व गोवा में होने की जानकारी मिली है. इस संदर्भ में गायत्री से पूछताछ आवश्यक है. Also Read - Kanpur Accident Death: कानपुर में तेज रफ्तार ट्रक पलटा, छह मजदूरों की मौत, 15 हुए घायल

ईडी ने अदालत से कहा कि लिहाजा 10 दिन के लिए गायत्री की पुलिस हिरासत मंजूर की जाए. 26 अक्टूबर, 2020 को विजिलेंस ने गायत्री के खिलाफ आय से अधिक संपति का मामला दर्ज किया था. 14 जनवरी, 2021 को इसी आधार पर ईडी ने भी जांच शुरू की. सोमवार को गायत्री को इस मामले में न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया था. गायत्री बलात्कार के एक मामले में पहले से ही जेल में है. Also Read - Tandav: Amazon को HC की फटकार- देवी-देवताओं का मजाक अभिव्यक्ति नहीं, जमानत याचिका खारिज