UP News: यूपी की योगी सरकार ने किसान संगठनों द्वारा घोषित कार्यक्रमों एवं दुर्गा पूजा को लेकर पूरी तरह से चौकन्नी है और सख्ती बरत रही है. प्रदेश में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए योगी सरकार ने प्रशासनिक व्यवस्था को चौकस रखने के लिए कड़े दिशा-निर्देश जारी किए हैं. सरकार ने प्रशासन से पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती करते हुए अग्रिम आदेशों तक सेक्टर व्यवस्था लागू करने को कहा है. इसके साथ ही प्रदेश के 13 संवेदनशील जिलों में 20 वरिष्ठ पुलिस अफसरों की तैनाती की गई है. ये अफसर आवंटित जिलों में ही कैम्प करेंगे.Also Read - आगरा में मृत सफाई कर्मचारी अरुण वाल्मीकि के परिवार से म‍िलीं प्रियंका गांधी, प्रशासन 10 लाख रुपये और एक सदस्य को नौकरी देगा

अपर मुख्य सचिव ने जारी किए आदेश Also Read - Noida: जुलूस में लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, पुलिस ने तीन को किया गिरफ्तार

अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने रविवार की देर शाम सभी मंडलायुक्तों, चारों पुलिस कमिश्नरों, सभी आईजी-डीआईजी रेंज, जिलाधिकारियों तथा जिलों के पुलिस कप्तानों के लिए सरकार का नया आदेश जारी कर दिया है.  इस आदेश में कहा गया है कि सभी लेखपाल, बीट कांस्टेबल, थानाध्यक्ष, एसडीएम, सीओ और जिले स्तर पर डीएम व एसपी किसानों से संवाद स्थापित करेंगे. कहीं भी भीड़ इकट्ठा न हो और जहां भी संवेदनशील स्थान हैं, वहां पर्याप्त सुरक्षा बल बल लगाया जाए. साथ ही तत्काल प्रभाव से अग्रिम आदेशों तक सेक्टर व्यवस्था भी लागू की जाए. Also Read - UP: 25 लाख की चोरी के मामले में सफाईकर्मी की हिरासत में मौत पर हंगामा, आगरा जा रहीं प्र‍ियंका गांधी हिरासत में

दुर्गा पूजा को लेकर सतर्कता बरतें अधिकारी

यूपी सरकार द्वारा जारी आदेस में कहा गया है कि दुर्गा पूजा व नवरात्र के कार्यक्रमों को देखते हुए प्रदेश के सभी जिलों में पुलिस बल को मोबाइल सर्विस पर रहेंगे. इसके साथ ही डीएम व एसपी तथा एसडीएम व सीओ एक साथ क्षेत्र भ्रमण करेंगे. जिन जिलों से लगे अन्य प्रदेश के बार्डर हैं, वहां निकटवर्ती जिले के डीएम व एसपी से वार्ता कर कानून-व्यवस्था की स्थिति सुनिश्चित की जाएगी और जिन जिलों के माध्यम से लोगों का इकट्ठा होना संभावित है, वहां से संबंधित मार्गों पर सुरक्षा व्यवस्था एवं बैरियर स्थापित किए जाएं.

अपर मुख्य सचिव गृह ने कहा है कि किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से वार्ता कर कहीं भी ऐसा आयोजन नहीं होने दिया जाएगा,  जिससे कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हो. जिन तत्वों द्वारा विरोध किया जा रहा है, उन्हें पहले से ही चिह्नित कर समुचित कार्रवाई की जाएगी. सोशल मीडिया पर भी कड़ी नजर रखी जाए, जिससे किसी भी आपत्तिजनक पोस्ट से संवेदनशीलता न बढ़े. प्रत्येक महत्वपूर्ण घटना से संबंधित रिपोर्ट शासन के गृह विभाग के कंट्रोल रूम व डीजीपी मुख्यालय के कंट्रोल रूम को प्रतिदिन रात्रि 12 बजे तक उपलब्ध कराई जाएगी.