फतेहपुर:  यूपी के जिला फतेहपुर में चर्च की ज़मीन बेच देने का मामला सामने आया है. अभिलेखों में हेराफेरी और अफसरों की मिलीभगत से चर्च की बेशकीमती जमीन हथियाने के मामले में शहर कोतवाल और तत्कालीन उपनिबंधक समेत पांच लोग निलंबित कर दिए गए. साथ ही कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया, जिसमें एसडीएम और तहसीलदार स्तर के भी कई अधिकारी शामिल हैं.

नायब तहसीलदार रमेशचंद्र पांडेय की ओर से दी गई तहरीर के मुताबिक, यूनियन मिशनरी सोसाइटी व एहतमाम (उप्र सरकार) जरिए फतेहपुर कलेक्टर के नाम अंकित जमीन पर भू माफिया फर्जी तरीके से अधिकारियों की मिली भगत करके बेच दिया है. उन्होंने जमीन के अभिलेखों के हेराफेरी किए जाने के दौरान जिले में तैनात रहे उपनिबंधक सदर, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, 19 क्रेता, विक्रेता और अन्य दोषी कर्मियों, जो मामले में लिप्त हैं, के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है.

इस मामले में शहर कोतवाल आर.के. सिंह, तत्कालीन उपनिबंधक धर्मेंद्र चौधरी, कानूनगो राजेंद्र सिंह पटेल, लेखपाल राजेंद्र प्रसाद सिंह यादव व लेखपाल ओमप्रकाश विश्वकर्मा को निलंबित कर दिया गया है. कार्रवाई शासन द्वारा गठित जांच कमेटी की रिपोर्ट पर की गई है.