उत्तर प्रदेश में बृहस्पतिवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के चौथे और अंतिम चरण में छिटपुट घटनाओं के बीच औसतन 75.38 प्रतिशत मतदान संपन्‍न हो गया और अब आगामी 2 मई को पूरे राज्‍य में कराए गए पंचायत चुनाव के परिणाम 2 मई को आएंगे. इन परिणामों के देर रात तक मतगणना चल सकती है.Also Read - यूपी में चुनावी ड्यूटी के दौरान कोरोना से जान गंवाने वाले 2,000 से ज्यादा परिवारों को मिलेगा 30-30 लाख रुपये का मुआवजा! लेकिन यह है शर्त...

राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक, चौथे चरण में राज्य के 17 जिलों में हुए मतदान में औसतन 75.38 प्रतिशत वोट पड़े. राज्य में चारों चरणों के चुनाव में औसतन 72.72 फीसदी मतदान हुआ. गत 15 और 19 अप्रैल को हुए पहले एवं दूसरे चरण के चुनाव में 71-71 फीसद मतदान हुआ था। वहीं, 26 अप्रैल को हुए तीसरे चरण के चुनाव में 73.5 फीसदी वोट पड़े थे. चौथे और अंतिम चरण में पंचायतों की दो लाख 10 हजार से ज्यादा सीटों के लिए पांच लाख 27 हजार से अधिक उम्मीदवारों का चुनावी भाग्य मतपेटियों में बंद हो गया. राज्‍य में पंचायत चुनाव के परिणाम 2 मई को आएंगे. Also Read - UP: पत्रकार की पिटाई करने वाले IAS अफसर ने माफी मांगकर की सुलह, एक-दूसरे को मिठाई खिलाते आए नजर

चौथ चरण में 17 जिलों में कुल 347436 उम्मीदवार उम्‍मीदवार
चौथे चरण में अंबेडकर नगर, अलीगढ़, कुशीनगर, कौशांबी, गाजीपुर, फर्रुखाबाद, बुलंदशहर, बस्ती, बहराइच, बांदा, मऊ, मथुरा, शाहजहांपुर, संभल, सीतापुर, सोनभद्र तथा हापुड़ जिलों में मतदान हुआ. चौथे चरण में कुल 347436 उम्मीदवार मैदान में थे. जिला पंचायत सदस्य की 738 सीटों पर 10679 प्रत्याशी, क्षेत्र पंचायत सदस्य की 18356 सीटों पर 55408 उम्मीदवार,जबकि ग्राम पंचायत वार्ड सदस्य की 177648 सीटों के लिए 114400 उम्मीदवार मैदान में थे. Also Read - UP Block Pramukh Elections: यूपी में ब्लॉक प्रमुख के 476 पदों के लिए हुआ मतदान, कई जगहों पर हिंसा और बवाल, Live Updates Video

मथुरा में दो प्रतिद्वंदी प्रत्याशियों के गुटों के बीच हिंसा और गोली चलने की वारदात, 8 लोग घायल
मथुरा में मतदान के दौरान दो प्रतिद्वंदी प्रत्याशियों के गुटों के बीच हिंसा और गोली चलने की वारदात हुई, जिसमें आठ लोग घायल हो गए. पुलिस ने इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया है. अपर पुलिस अधीक्षक शिरीष चंद्र ने बताया कि यह घटना रखोली ग्राम पंचायत के नेहरा गांव में हुई, जहां प्रधान पद के परस्पर प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों सियाराम तथा मलखान के समर्थकों के बीच विवाद के दौरान गोलीबारी हुई. इसकी वजह से मतदान कुछ देर के लिए प्रभावित हुआ. हालांकि, पुलिस ने मौके पर मुस्तैदी दिखाते हुए स्थिति को नियंत्रण में कर लिया. अपर पुलिस अधीक्षक ने पुलिस द्वारा गोली चलाए जाने से इनकार किया और कहा कि इस घटना के दोषी लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून तथा गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी.

कर्मचारी की तबीयत बिगड़ने के बाद मौत
शाहजहांपुर से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक चौथे चरण में चुनाव ड्यूटी कर रहे एक कर्मचारी की तबीयत बिगड़ने के बाद उसकी मौत हो गई. शाहजहांपुर के जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि निगोही ब्लाक के हितेनी गांव में चुनाव ड्यूटी कर रहे सफाई कर्मी सोबरन लाल की मतदान केंद्र पर तबीयत खराब हो गई. उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

चुनाव ड्यूटी कर रही अध्यापिका की तबीयत बिगड़ी
एक महिला मतदान कर्मी द्वारा अपनी तबीयत खराब होने पर बनाया गया वीडियो वायरल हो गया, जिसके बाद उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. कलान ब्लाक में चुनाव ड्यूटी कर रही अध्यापिका अपर्णा की तबीयत मतदान केंद्र में अचानक खराब हो गई तो अधिकारियों ने उसे कमरे में ही लेटा दिया. इस दौरान उसने अपना वीडियो बनाया, जिसमें उसने कहा कि उसकी तबीयत खराब है मगर फिर भी उसे जबरन चुनाव ड्यूटी पर भेज दिया गया है. अगर उसे कुछ होता है तो इसके लिए जिला प्रशासन पूरी तरह जिम्मेदार होगा. जिला अधिकारी ने बताया कि वायरल वीडियो का तत्काल संज्ञान लेते हुए शिक्षिका को फौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया और उसकी जगह दूसरे कर्मचारी की ड्यूटी लगाई गई.

प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी, दोबारा मतदान का आश्‍वासन
मऊ से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक, जिले के बड़राव ब्लाक के अमिला ग्राम सभा स्थित रकबा गांव के बूथ पर मतपत्रों को लेकर विवाद हुआ. इस दौरान पुलिस द्वारा कथित रूप से बल प्रयोग किए जाने के विरोध में लोगों ने अमिला-बोझी मार्ग पर रास्ता जाम कर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की. बाद में अधिकारियों द्वारा इस बूथ पर पुनर्मतदान कराए जाने के आश्वासन पर प्रदर्शन समाप्त हुआ.