भदोही : उत्तर प्रदेश के भदोही जिले के प्रमुख धार्मिक स्थल सीता समाहित स्थल सीतामढ़ी से बड़ी खबर है. अयोध्या के तपस्वीजी की छावनी के महंत परमहंस महराज ने शनिवार को कहा कि अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की घोषणा 6 दिसंबर को नहीं हुई तो वह सीतामढ़ी की मिट्टी का लेप कर चिता पर बैठ आत्मदाह कर लेंगे.Also Read - COVID Vaccination drive for Chhath Puja devotees: छठ व्रतियों के लिए खास टीकाकरण अभियान की शुरुआत

Also Read - Video: लालू यादव के बयान पर बोले नीतीश कुमार- 'वह मुझे गोली मरवा सकते हैं और...'

संत ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा की राजनीति और आरएसएस एवं विहिप की कूटनीति की वजह से अयोध्या में राममंदिर का निर्माण नहीं हो रहा है. उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया. इस दौरान सीतामढ़ी में आयोजित ‘धिक्कार सभा’ के आयोजन के दौरान वह प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जमकर बरसे. सीएम द्वारा हनुमानजी को दलित कहने पर उन्होंने कुछ खास नहीं कहा. Also Read - PM Modi's UP Visit: सिद्धार्थनगर और काशी में पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

…तो क्या 11 दिसंबर को छत्तीसगढ़ में नहीं फूटेंगे पटाखे, राज्य के 6 बड़े शहरों में 31 जनवरी तक प्रतिबंध

स्वामी परमहंस ने सीतामढ़ी स्थित वाल्मीकि आश्रम में आयोजित धिक्कार सभा में कहा कि भगवान श्रीराम की सहधर्मिणी आदिशक्ति माता सीता की समाहित स्थली की पवित्र मिट्टी को माथे पर लगाकर आत्मदाह करेंगे. इसके लिए वह यहां से मिट्टी लेने आए हैं.

सीएम अमरिंदर के खिलाफ बयान के बाद नवजोत सिद्धू पर दबाव, पंजाब के तीन मंत्रियों ने की इस्‍तीफे की मांग

इस दौरान उन्होंने गंगा पूजन भी किया और घंटा बजाकर ऐलान किया कि वह रविवार को सीता समाहित स्थल सीतामढ़ी में मिट्टी को संकलित करेंगे और उसी मिट्टी को लगाकर 6 दिसंबर को मंदिर निर्माण की घोषणा न होने पर आत्मदाह करेंगे.