नोएडा: उत्तर प्रदेश पुलिस के एक सिपाही के, अपराध रोकने के लिए गठित क्राइम ब्रांच के अफसरों द्वारा किए जा रहे भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए उत्तर प्रदेश के डीजीपी से लेकर जिले के पुलिस कप्तान तक को किए गए ट्वीट पर कार्रवाई करते हुए 16 पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया. साथ ही इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं. Also Read - राजस्थान सरकार पर मायावती का निशाना, कहा किराया मांगना कंगाली और अमानवीयता का प्रदर्शन

Also Read - IRCTC Indian Railway Trains List For Delhi: दिल्ली से चलेंगी 40 ट्रेनें, जानें हर स्टेशन से ट्रेनों के चलने और गुजरने की जानकारी

पुलिस सूत्रों ने बताया कि एक सिपाही ने अपराध रोकने के लिए गठित क्राइम ब्रांच के अफसरों द्वारा किए जा रहे भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए उत्तर प्रदेश के डीजीपी से लेकर जिले के पुलिस कप्तान तक को ट्वीट किया है. ट्वीट में पुलिस अधिकारियों, कर्मियों आदि पर गंभीर आरोप लगाये गए हैं. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. अजय पाल ने बताया कि सिपाही के ट्वीट को गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच नगर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह को सौंपी गई है. उन्होंने बताया कि क्राइम ब्रांच में तैनात इंस्पेक्टर सहित 16 पुलिस वालों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया है. Also Read - नोएडा बॉर्डर पर 100 बसों के साथ पहुंचे कांग्रेसी नेता, लॉकडाउन का उल्लंघन करने को लेकर FIR दर्ज

देश का सबसे लंबा ‘पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे’ बनाने जा रही योगी सरकार, 27 को पीएम मोदी कर सकते हैं शिलान्‍यास

हर माह रिश्वत के रूप में लाखों रुपए वसूलते है क्राइम ब्रांच वाले

ट्वीट में कहा गया है कि क्राइम ब्रांच के अधिकारी हर माह रिश्वत के रूप में लाखों रुपए वसूलते हैं . ट्वीट में फोन नंबर देकर बताया गया है कि क्राइम ब्रांच के लोग कहां-कहां से रिश्वत लेते हैं. ट्वीट में नकली सीमेंट बेचने वालों, होटल चलाने वाले, सरिया चोरी करने वाले, नकली डीजल बेचने वालों, सट्टा जुआ चलाने वालों तथा और भी कई तरह के अनैतिक कार्य करने वाले लोगों से वसूली जाने वाली रकम का ब्यौरा दिया गया है. इस ट्वीट के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है.

उत्‍तराखंड: पूर्णागिरी जा रहे श्रद्धालुओं के जत्थे को ट्रक ने कुचला, 11 की मौत, 20 घायल

एसपी स्तर के अधिकारी पर हर माह 25 हजार रिश्वत लेने का आरोप

ट्वीट में जनपद में तैनात एसपी स्तर के एक अधिकारी पर प्रतिमाह 25 हजार रुपए रिश्वत लेने का आरोप लगा है. सिपाही ने हाल ही में हुई नोएडा पुलिस की उस मुठभेड़ पर भी सवाल उठाया है, जिसमें श्रवण नामक बदमाश मारा गया था. सिपाही ने लिखा है कि श्रवण का ‘एनकाउंटर’ करवाने वाले व्यक्ति को 50 हजार रुपये दिये जा चुके हैं और 50 हजार रुपये अभी देने हैं. ट्वीट में पुलिस अधिकारियों द्वारा बिहार के लिए बुक कराए गए एक लाख रुपए के एयर टिकट का जिक्र भी है. (इनपुुुट एजेंसी)