नई दिल्ली : दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को प्रदेश में एक महिला के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म मामले में चिट्ठी लिखी है. मालीवाल ने इस मामले में पुलिस की निष्क्रियता की शिकायत करते हुए सीएम को पत्र लिखा है.

मालीवाल ने कहा कि डीसीडब्ल्यू को सामूहिक दुष्कर्म की शिकार एक महिला से शिकायत मिली थी. यौन हमले तथा दुष्कर्म के इस मामले में ‘‘पाशविकता व बर्बरता तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने में राज्य पुलिस की निष्क्रियता ने’’ उन्हें यह खत लिखने के लिये विवश किया.

सेना में बढ़ेंगे लड़कियों के लिए नौकरियों के अवसर, साइबर, ट्रांसलेशन और मिलिट्री पुलिस में मिल सकते हैं मौके

उन्होंने कहा कि पीड़ित 21 वर्षीय युवती को उसके पिता ने 12 साल की उम्र में 40 हजार रुपये के बदले 65 वर्षीय शिक्षक को बेच दिया था. तब से लेकर पीड़िता के 17 वर्ष के होने तक चांदपुर (बिजनौर) में उससे दुष्कर्म किया गया. बाद में बिजनौर में एक दूसरी जगह ले जाया गया. मालीवाल ने कहा कि चार लोगों ने लड़की के साथ दुष्कर्म किया. युवती ने कई बार उनके चंगुल से भागने की कोशिश की लेकिन हर बार अपहरणकर्ताओं ने उसे पकड़ लिया. भागने की कोशिश करने पर अपहरणकर्ता उसे पीटते थे. आरोपी महिला की नाबालिग बेटी को भी प्रताड़ित करते थे और उसे सिगरेट से दागते थे.

छत्तीसगढ़ः भूपेश बघेल को कांग्रेस बना सकती है सीएम, ताम्रध्वज साहू फैसले से नाराज!

मालीवाल ने कहा, अपनी प्राथमिकी में पीड़िता ने आरोप लगाया कि एक आरोपी पहले भी दुष्कर्म कर चुका है. उसने 19 वर्षीय एक महिला की तब हत्या कर दी थी जब वह भागने की कोशिश कर रही थी. डीसीडब्ल्यू अध्यक्ष ने कहा, ‘इन खौफनाक घटनाओं को देखते हुए दिल्ली महिला आयोग आपसे अनुरोध करता है कि आप तत्काल इस मामले को देखें और साजिशकर्ताओं के खिलाफ फौरन कार्रवाई कर पीड़िता को न्याय दें.’ उन्होंने मुख्यमंत्री से पीड़िता को तत्काल आर्थिक मदद दिलाने का भी अनुरोध किया.