लखनऊ: प्रदेश में पुलिस चौकियों पर पोस्ट करने के लिए नहीं हैं दारोगा. यूपी पुलिस में तीन हज़ार से ज्यादा सब इंस्पेक्टर्स को प्रमोट कर इंस्पेक्टर बना दिए जाने के बाद अब उत्तर-प्रदेश में सब-इंस्पेक्टर्स का टोटा पड़ गया है . नई भर्तियां न होने और बड़े पैमाने पर इंस्पेक्टर्स के प्रमोशन के बाद यूपी जैसे बड़े प्रदेश में मात्र 15140 सब इंस्पेक्टर्स ही रह गए हैं.अब जिलों में सब-इंस्पेक्टर्स से ज्यादा इंस्पेक्टर हो गए हैं. वर्तमान स्थिति ये है कि विश्व के सबसे बड़े पुलिस बल के पास पर्याप्त संख्या में सब इंस्पेक्टर्स  नहीं हैं. Also Read - यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजे गए जेल

वहीं इंस्पेक्टर्स की संख्या ज्यादा हो जाने ने से उत्पन्न इस अजीबो-गरीब स्थिति से निपटने के लिए पुलिस बोर्ड कुछ प्रयोग करने की तैयारी में है जिसके अंतर्गत अब नए पदोन्नत इंस्पेक्टर्स से शिफ्ट में काम  कराया जाएगा और एक ही कोतवाली/थाने पर अब 1 के बजाय 3 इंस्पेक्टर तैनात किए जायेंगे. हितों का टकराव न हो और इन नव पदोन्नत इंस्पेक्टर्स का समायोजन भी किया जा सके इसके लिए डे-नाईट शिफ्ट में नियुक्ति  के साथ-साथ एक हेड इंस्पेक्टर नियुक्त किया जायेगा। वहीं  दूसरी तरफ सब-इंस्पेक्टर्स की कमी को दूर करने के लिए एचपीसी को चौकी प्रभार दिए जाने की तैयारी चल रही है. Also Read - यूपी बोर्ड के छात्र रहें तैयार, इस माह में आएगा 10वीं-12वीं के एग्ज़ाम का रिजल्ट

स्थिति से निपटने की ये है योजना –
प्रदेश में स्थिति यह है कि पुलिस चौकियों पर प्रभारी तैनात करने लिए सब-इंस्पेक्टर्स संख्या के हिसाब से बेहद कम हैं ऐसे में इस कमी से निपटने के लिए पुलिस विभाग में कई प्रकार के मंथन चल रहे हैं जिससे इस कमी को पूरा किया जा सके वैश्विक स्तर पर देखा जाये तो 16115 करोड़ के वार्षिक बजट वाला उत्तरप्रदेश पुलिस बल विश्व का सबसे बड़ा पुलिस बल है जो की 1863  में formed हुआ था जो  पुलिस एक्ट 1861 से गवर्न होता है. Also Read - सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबियत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती

लोकल स्तर पर कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए बेहद महत्वपूर्ण कड़ी है सब इंस्पेक्टर्स ऐसे में अब चौकियों पर एचपीसी को प्रभार दिए जाने की योजना बना रहा है पुलिस विभाग. इसके साथ ही जिन योजनाओं पर मंथन चल रहा है उनमे अब जिला कोतवालियों पर 2 इंस्पेक्टर्स को नियुक्त किये जाने का विचार चल रहा है जो  शिफ्ट अंतर्गत ड्यूटी करेंगे एक को दिवस अधिकारी और दूसरे को रात्रि अधिकारी के तौर पर नियुक्त किया जा सकता है. बड़े पैमाने पर हुए प्रमोशन के बाद अब यूपी में सिर्फ 15140 पुलिस सब इंस्पेक्टर बचे है। इस में जीआरपी, सीबीसीआईडी, एन्टी करप्शन, 1090, यूपी 100 और विजिलेंस दरोगा भी शामिल हैं.

एचसीपी से दारोगा के पद पर प्रमोशन देने की तैयारी में जुटा है भर्ती बोर्ड
हालांकि सूत्रों की माने तो नई भर्तियों में विलम्ब के चलते अब इस कमी को पूरा करने के लिए भर्ती बोर्ड एचसीपी से दारोगा के पद पर प्रमोशन देने की तैयारी में जुटा है.
एक कोतवाली पर पोस्ट किये जा सकते हैं 3  कोतवाल –

साथ ही ये भी खबर है कि बोर्ड अब एक ही कोतवाली पर 3 कोतवाल एक साथ पोस्ट पोस्ट किये जायेंगे अर्थात एक मुख्य कोतवाल एक दिवस कोतवाल और एक रात्रि कोतवाल. बड़े पैमाने पर हुए प्रमोशन के बाद अजीबोगरीब स्थिति हो गई है ज़िलों में इंस्पेक्टरों ज़िलों में कोतवालियों / थानों के मुक़ाबले इंस्पेक्टर्स की संख्या कई गुना ज़्यादा हो गई है। जिस के बाद कोतवालियों और थानों पर प्रभारी कोतवाली के अलावा डे और नाईट शिफ्ट के लिए 12 घण्टे के रोटेशन पर इंस्पेक्टर पोस्ट किये जाने पर मंथन चल रहा है. 12 घण्टे की शिफ्ट में ड्यूटी करने वाले इंस्पेक्टर की ज़िम्मेदारी कोतवाली पर मौजूद रह कर थाने पर आने वालों की समस्या सुनने और उस का निदान कराने की होगी जबकि कोतवाली इंचार्ज पूरे कोतवाली/थाना क्षेत्र का हेड इन्चार्ज होगा.

डीआईजी एलओ के अनुसार नहीं है कोई समस्या
यद्यपि इस बाबत डीआईजी कानून व्यवस्था का कहना है कि दरोगाओं की कमी उत्तर प्रदेश में नहीं है. डीआईजी क़ानून व्यवस्था प्रवीण कुमार के अनुसार कि प्रदेश में पुलिस सब इंस्पेक्टरों की कोई कमी नहीं है.पुलिस सब इंस्पेक्टरों को प्रमोशन देने के बाद अब एचसीपी को प्रमोशन देकर दरोगा बनाने की प्रक्रिया चल रही है. ऐसे में सब इंस्पेक्टरों की कमी का कोई प्रश्न नहीं उठता है. वही कोतवालियों/थानों पर एक साथ तीन कोतवाल पोस्ट किये जाने के सवाल पर डीआईजी साहब का कहना है कि यह कोई नया प्रयोग नहीं है पूर्व में भी इस तरह के प्रयोग हुए हैं उन्होंने कहा कि ज़िलों में कार्य का दबाव अधिक होता है ऐसे स्थिति में शिफ्ट अंतर्गत कार्य करने से पुलिस अफसर बेहतर निर्णय लेने की स्थिति में होते हैं। ऐसे में नया प्रयोग करने में कोई बाधा नहीं है.