Hathras Gangrape updates: यूपी के हाथरस गैंगरेप और हत्‍या की शिकार हुई 19 साल की दलित पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे टीएमसी सांसदों के प्रतिनिधि मंडल को आज शुक्रवार को गांव से पहले ही पुलिस ने रोक दिया. वीडियों में एक व्‍यक्ति सिविल ड्रेस में दिख रहा जो पुलिसकर्मियों को लीड कर रहा है. वह सांसदों को रोकने के दौरान महिला नेता को पकड़े हुए दिखाई दे रहा है. इसके बाद टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन से पुलिसकर्मियों और अधिकारियों से कुछ बहस शुरू होते दिखती है और धक्‍कामुक्‍की हो जाती है, जिसमें ब्रायन नीचे गिर जाते हैं. Also Read - Hathras case Latest Updates: कहां तक पहुंची हाथरस मामले की सीबीआई जांच? अब आरोपियों की बारी

जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ’ ब्रायन और पार्टी के अन्य नेताओं को हाथरस जाने से रोक दिया. वे सभी 19 वर्षीय पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए हाथरस जा रहे थे. Also Read - रेप का अजीबो-गरीब मामला- 6 साल के लड़के पर साढ़े पांच साल की बच्ची से बलात्कार का आरोप

टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन जब गिरते हैं, तो पहले सिवि‍ल ड्रेस में अधिकारी उनके ऊपरी साइड में नजर आता है, फिर सांसद को उठाता भी है. Also Read - बुलगड़ी गांव छोड़ना चाहता है हाथरस पीड़िता का परिवार, घर पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात

इस मामले पर SDM हाथरस प्रेम प्रकाश मीणा ने कहा, SIT टीम अंदर है, जांच चल रही है. जांच किसी तरह से प्रभावित न हो इसलिए दिशानिर्देश हैं और किसी को भी अंदर जाने की अनुमति नहीं है.

दिल्ली से करीब 200 किमी की यात्रा करके पहुचे थे सांसद
बता दें कि गैंगरेप हुई पीड़िता की मौत हो चुकी है. टीएमसी ने अपने बयान में कहा, “दिल्ली से करीब 200 किलोमीटर की यात्रा करने वाले तृणमूल सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल को उप्र पुलिस ने हाथरस में प्रवेश करने से रोक दिया है.” टीएमसी बयान में आगे कहा, “वे पीड़िता के परिवार के साथ एकजुटता व्यक्त करने और अपनी संवेदना व्यक्त करने के लिए अलग-अलग यात्रा कर रहे थे.

टीएमसी ने पूछा- हमें क्यों रोका जा रहा है? यह किस तरह का जंगल राज है?
हाथरस जाने से रोके गए नेताओं में तृणमूल सांसद डेरेक ओ ब्रायन, डॉ. काकोली घोष दस्तीदार, प्रतिमा मंडल और पूर्व सांसद ममता ठाकुर शामिल थे. बयान में कहा गया, “हम शांतिपूर्वक हाथरस में परिवार से मिलने और अपनी संवेदना व्यक्त करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं. हम व्यक्तिगत रूप से यात्रा कर रहे हैं और सभी प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं. हमारे पास कोई शस्त्र नहीं हैं. हमें क्यों रोका जा रहा है? यह किस तरह का जंगल राज है, जिसमें निर्वाचित सांसदों को एक पीड़ित परिवार से मिलने से रोका जा रहा है? इस समय हम हाथरस में पीड़िता के घर से सिर्फ 1.5 किलोमीटर दूर हैं.

यूपी सरकार के मंत्री का ऐसा बयान
हाथरस में पुलिस द्वारा धकेल दिए गए टीएमसी सदस्यों पर यूपी के मंत्री एसएन सिंह ने कहा, ”पूरे मामले का राजनीतिकरण किया जा रहा है और लोग बस हाथरस का दौरा कर रहे हैं. श्री डेरेक मेरे अच्छे दोस्तों में से एक है. वह नाटकीयता का एक अद्भुत चरित्र है और आखिरकार अपने कौशल का प्रदर्शन करने के लिए हाथरस में एक जगह मिली है.