लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश में महोबा जिले के खरेला थाना क्षेत्र के पहरेथा गांव में एक मुस्लिम युवक ने सिर्फ रोटी जल जाने पर अपनी बीवी को ‘तीन तलाक’ बोलकर घर से निकाल दिया. महिला ने शौहर पर प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए कहा कि जलती सिगरेट से उसके शरीर के कई हिस्‍सों को जलाया भी था. महिला ने शिकायती पत्र देकर पुलिस से न्‍याय की गुहार की है. Also Read - इलाहाबाद हाईकोर्ट ने हाथरस गैंगरेप में लिया स्वत: संज्ञान, DGP, ADG , DM और SP से मांगा जवाब

Also Read - UP: भदोही में शौच के लिए निकली 14 साल की दलित लड़की का मर्डर, खेत में मिली डेडबॉडी पर चाकू से जख्‍म

  Also Read - हाथरस गैंगरेप की घटना से नाराज बॉलीवुड ने मांगा न्याय, इन एक्‍टर-एक्‍ट्रेसेस ने उठाई आवाज

अपर पुलिस अधीक्षक बंशराज यादव ने बताया कि पहरेथा गांव की 24 साल की मुस्लिम युवती ने उनके पास आकर शिकायत की कि रोटी जल जाने की वजह से पति ने तीन तलाक बोलकर घर से निकाल दिया है. महिला ने इस बात का शिकायती पत्र दिया है. इस मामले में घरेलू हिंसा कानून के तहत मुकदमा दर्ज किए जाने का आदेश थाने की पुलिस को दिया गया है.

तीन तलाक: शौहर के जख्‍मों को बर्दाश्‍त नहीं कर पाई रजिया, हारी जिदंगी की जंग, लोहे की रॉड से पीटता था नईम

महिला ने पुलिस को दिया शिकायती पत्र

उन्होंने बताया कि शिकायती पत्र के अनुसार करहरा गांव की रजिया का निकाह पहरेथा गांव के निहाल खां के साथ 4 जुलाई 2017 को हुआ था. रजिया ने आरोप लगाया कि पति के तलाक देने और घर से निकाले जाने की शिकायत लेकर वह पहले थाने गई थी, लेकिन पुलिस ने उसे डांटकर भगा दिया था. इसके बाद वह अपर पुलिस अधीक्षक से मिली. उसने यह भी आरोप लगाया कि तलाक देने से तीन दिन पहले उसके शौहर ने जलती सिगरेट से उसके शरीर के कई हिस्सों को जलाया भी था.