मुजफ्फरनगर: अदालत में झूठे साक्ष्य देने पर एक व्यक्ति को कोर्ट ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है. मामला मुजफ्फरनगर की एक स्थानीय अदालत का है. यहां भाजपा के एक स्थानीय नेता की  हत्या मामले में झूठे सबूत देने पर एक व्यक्ति को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. बता दें कि जिस व्यक्ति को अदालत ने नोटिस जारी किया है वह मृतक का पुत्र है, जिसने पिता की हत्या के बाद आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी लेकिन बाद में वो अपने बयान से मुकर गया. अतिरिक्त जिला सत्र न्यायाधीश गौरव कुमार श्रीवास्तव ने साक्ष्य के अभाव में तीन आरोपियों को बरी कर दिया है.

योगी आदित्यनाथ ने कहा- कश्मीर समस्या के लिए नेहरू जिम्मेदार

धारा 344 के तहत नोटिस
स्थानीय सत्र अदालत ने शिकायतकर्ता श्यामबीर के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया. अदालत में झूठे सबूत देने पर सीआरपीसी की धारा 344 के तहत यह नोटिस जारी किया है. वह अपने बयान से मुकर गया था. अभियोजन पक्ष के मुताबिक, जिले के मीरनपुर थाना क्षेत्र अन्तर्गत नागला गांव में 26 जनवरी 2017 को भाजपा नेता शोभाराम की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी. मृतक के बेटे श्यामबीर ने आरोपियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी. ( इनपुट एजेंसी)

राहुल के गढ़ में पीएम मोदी की रैली आज, अमेठी को कई परियोजनाओं की देंगे सौगात