नई दिल्‍ली: उत्‍तर प्रदेश के अमरोहा के 12वीं के उस्‍मान सैफी से जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल रविवार को मन की बात के दौरान बात की उसकी ऊंचाईयों पर थी और उसे यकीन नहीं हो रहा था कि वह दुनिया के बेस्‍ट लीडर से बात कर रहा है. बता दें कि उस्‍मान सैफी ने 12वीं में टॉप किया है.Also Read - हमारी संस्कृति मिटाने की कोशिश हुई, अब नया भारत बनाना है, पराक्रम दिवस पर PM मोदी ने और क्या कहा, पढ़ें

उस्‍मान सैफी ने कहा, मैं बहुत ही ज्‍यादा खुश हूं और मैं इसे शब्‍दों में बयान नहीं कर सकता हूं. प्रधानमंत्री ने मुझे वैदिक मैथमैटिक्‍स सीखने और इसे दोस्‍तों को सिखाने के लिए कहा है. मुझे भरोसा करने की स्थिति में नहीं था कि मैं दुनिया के बेस्‍ट लीडर से बात कर रहा हूं. Also Read - IAS Cadre Rules: आईएएस कैडर के नियमों में बदलाव करने जा रही केंद्र सरकार, जानें क्या होंगे नए नियम?

Also Read - IAS Cadre Rules में बदलाव करने जा रही मोदी सरकार, जानें इससे क्या फर्क पड़ेगा, जिसका विरोध हो रहा है

बता दें कि 26 जुलाई को प्रधानमंत्री ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम के दौरान देश के विभिन्‍न राज्‍यों के छात्रों से बात की थी, जिन्‍होंने हाल ही में परीक्षाएं पास की थीं. उन्‍होंने अमरोहा के उस्‍मान सैफी, तमिलनाडु के नमक्‍कल के कनिगा से बात की थी और उन्‍हें बधाई दी थी.

प्रधानमंत्री मदेी ने कहा था कि यहां बहुत सी कहानियां ऐसे युवा फ्रेंड्स की हैं, जिनका साहस और सफलता कठिन वक्‍त में प्रेरित करता है. मैं जितना संभव हो ऐसे युवा मित्रों से बात करना चाहता हूं, लेकिन समय की अपनी सीमाएं होती हैं. मैं अपने सभी युवा मित्रों से अपील करता हूं कि वे अपनी कहानियां अपनी आवाज में शेयर करें ताकि देश को प्रेरणा मिल सके.